अखिलेश यादव को लखनऊ एयरपोर्ट पर रोका गया, प्रशासन ने नहीं बताई वजह

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को अमौसी एयरपोर्ट पर प्रशासन ने रोक लिया है। बताया जा रहा है कि छात्र संघ के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए वो प्रयागराज जा रहे थे। ये बात अलग है कि प्रशासन ने अखिलेश यादव को रोके जाने की वजह नहीं बताई है।

लखनऊ एयरपोर्ट पर रोके जाने के बाद अखिलेश यादव ने कहा कि मौजूदा राज्य सरकार डरी हुई है। वो छात्रसंघ के शपथग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए जा रहे थे। लेकिन उन्हें बेवजह लखनऊ एयरपोर्ट पर रोक दिया गया।

बता दें कि अखिलेश यादव ने हाल ही में कहा था कि केंद्र की मोदी सरकार और प्रदेश में योगी सरकार लोगों की उम्मीदों पर उतरने में नाकाम रही है। दोनों सरकारें सिर्फ और सिर्फ दमन की राजनीति कर रही है। विपक्ष के नेता अगर अपनी आवाज उठा रहे हैं तो उनकी आवाज को दबाया जा रहा है।

आज दोनों सरकारें अपने वादों को निभाने में नाकाम रही हैं। एक तरफ ये सरकार कहती है कि लोकतंत्र में हर किसी को अपनी बात कहने का अधिकार है। लेकिन आज जब इस सरकार के खिलाफ बात की जा रही है तो मुंह को बंद किया जा रहा है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper