अगर आपके घर में भी लगा है LED बल्ब तो यह खबर आपके लिए है

बिजली की बचत के लिए सरकार द्वारा चलाए जा रहे Ujwala campaign से देश में led bulb को लेकर बिक्री में बहुत तेजी से वृद्धि हुई है। led bulb को सरकार से निरन्तर प्रोत्साहन प्राप्त हो रहा है। जिसमें सस्ते मूल्य पर सभी लोगों के लिए इस बल्ब को available कराना शामिल है। लेकिन अभी ताजा हुए एक सर्वे के मुताबिक इस बल्ब को लेकर काफी चौकाने वाली सच्चाई सामने आई हैं।

इस सर्वे के अनुसार मार्किट में बिकने वाले लगभग तीन चौथाई यानी कि 76 फीसदी बल्ब सुरक्षा मानकों के अनुरूप नहीं हैं। Survey agency नील्सन द्वारा आज जारी सर्वेक्षण रिपोर्ट में इस बात का खुलासा किया गया है कि देश भर में बिकने वाले ज़्यादातर led bulb बहुत ही खतरनाक और नकली हैं।

इसमें सबसे ज़्यादा मामले राष्ट्रीय राजधानी नयी दिल्ली से जुड़े हुए हैं। और इसके साथ यह बात भी सामने आयी है कि करीब 48 फीसदी led bulb पर निमार्ता का कोई पता नहीं है और 31 फीसदी पर तो निमार्ता का नाम भी नहीं है।

नयी दिल्ली, मुम्बई, अहमदाबाद और हैदराबाद जैसे बड़े-बड़े शहरों के 200 इलेक्ट्रिक खुदरा आउटलेट पर पिछले जुलाई के दौरान सर्वे करके यह रिपोर्ट तैयार की गयी है।

इस सर्वे से यह बात भी सामने आ गई है कि बिना ब्रांड वाले यह led bulb सेहत के साथ के साथ सरकार के मेक इन इंडिया योजना पर भी काफी भारी चोट पहुंचा रहे हैं।

इससे सरकारी खजाने को भी बहुत नुकसान हो रहा है। इसीलिए अगस्त में भारतीय मानक ब्यूरो ने led bulb निमार्ताओं को उनके उत्पाद के सुरक्षा जांच के लिए BIS से पंजीकृत करने का आदेश भी जारी कर दिया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...

लखनऊ ट्रिब्यून

Vineet Kumar Verma

E-Paper