अन्तर्राष्ट्रीय आयुर्वेद युवा महोत्सव में देश भर से जुटेंगे 500 विशेषज्ञ

लखनऊ ब्यूरो। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के आयुर्वेद संकाय के छात्रों में विश्वास जगाने एवं उनके कौशल विकास के लिए तीन दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय आयुर्वेद युवा महोत्सव (संयोजनम)16 नवम्बर से आयोजित किया गया है। महोत्सव में देश-विदेश के 500 विशेषज्ञ शोधार्थी भाग लेंगे। महोत्सव विश्वविद्यालय के कृषि विज्ञान संस्थान, के शताब्दी कृषि प्रेक्षागृह में आयोजित किया गया है।

संकाय प्रमुख और महोत्सव आयोजन समिति के अध्यक्ष प्रो. यामिनी भूषण त्रिपाठी ने बुधवार को बताया कि महोत्सव के उद्घाटन समारोह के मुख्य अतिथि प्रदेश के राज्यमंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी हैं।

उन्होंने बताया कि महोत्सव में महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के कुलपति प्रो. टी. एन. सिंह, सी.सी.आर.ए.एस. के महानिदेशक प्रो. के. एस. धीमान, आर.एस. जयवर्धने, पूर्व निदेशक इस्टीट्यूट आॅफ इंडीजिनस मेडीसीन, कोलम्बो, श्रीलंका, प्रो. योगेश चन्द्र मिश्र, राष्ट्रीय संगठन सचिव, विश्व आयुर्वेद परिषद् एवं डाॅ. अशोक वाष्र्णेय राष्ट्रीय संगठन सचिव, आरोग्य भारती की खास उपस्थिति रहेंगी।

प्रो. त्रिपाठी ने बताया कि इस त्रिदिवसीय महोत्सव की रूपरेखा मुख्यतः पांच बिन्दुओं पर आधारित है- कर्माभ्यासम, उद्बोधनम्, नूतनम्, गतिविधि एवं अभिमंचम् जिसमें प्रत्यक्ष कर्माभ्यास, प्रेरणादायक अभिमंथन, नवीन तकनीकी अन्वेषण, शास्त्रोक्त विषयवस्तु प्रस्तुतिकरण तथा सांस्कृतिक क्रियाकलाप का प्रदर्शन आदि सम्मिलित हैं।

उन्होंने बताया कि महोत्सव न केवल आयुर्वेद एवं अन्य पारम्परिक चिकित्सा पद्धति को बढ़ावा देगा, बल्कि छात्रों के कार्यकौशल एवं विश्वास में वृद्धि होगी। साथ ही साथ युवाओं के सर्वांगीण विकास एवं अपनी जड़ों के प्रति आकर्षण में वृद्धि होगी। जिससे विश्व पटल पर आयुर्वेद की स्वीकारोक्ति बढ़ेगी। वार्ता में डाॅ. पी.एस. उपाध्याय, डाॅ. पी.एस. ब्याडगी भी मौजूद रहे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
loading...
E-Paper