अपर्णा का जज्बा

मुंबई: अंतरराष्ट्रीय मार्शल आर्ट चैंपियन, मोटिवेशनल स्पीकर, कोरियोग्राफर और टूरिस्ट मैनेजर रहीं अपर्णा राजावत अब महिलाओं को सशक्त बनाने और गरीब, बेसहारा बच्चों का भविष्य सुधारने का काम कर रही हैं। वह फिलहाल पिंक बेल्ट मिशन से जुड़कर लड़कियों को मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग दे रही हैं। आगरा में पली-बढ़ीं अपर्णा के पिता रामसिंह ठाकुर बीएसएनएल में नौकरी करते थे और मां राजरानी ठाकुर गृहणी थीं। अब दोनों का निधन हो चुका है।

अपर्णा ने मां के सहयोग और पिता से छुपकर पेंटिंग सीखने के बहाने मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग ली। छह महीने के भीतर अपर्णा ने स्टेट लेवल की चैंपियन मयूरा शर्मा को जब हरा दिया, तो अखबारों में उनकी फोटो छपी और पिता को पता चला। पिंक बेल्ट मिशन की फाउंडर अपर्णा राजावत मुख्य रूप से छात्राओं को प्रशिक्षित कर रही हैं। उनका उद्देश्य देश के छोटे-बड़े शहरों में ज्यादातर लड़कियों को आत्मरक्षा की ट्रेनिंग देकर वालंटियर तैयार करना है। ताकि, ये ट्रेनर अपने कॉलेज व आसपास की लड़कियों प्रशिक्षित कर सकें।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
loading...
E-Paper