अब एप बताएगा एम्बुलेंस की लोकेशन

लखनऊ: कौन सी 108 व 102 एम्बुलेंस कहां है, कहीं जाम में फंसी है। यही नहीं वाहन चालक और दूसरे स्टाफ भी कंट्रोल रूम आनलाइन जुड़े रहेंगे। माना जा रहा है कि इस एप के कारण मरीजों को एम्बुलेंस की जल्द सुविधा मिलेगी। एम्बुलेंस चालकों की चालाकी पर अंकुश लगेगा। उनके बिना बताए ही उनकी लोकेशन कंट्रोल रूम में नजर आएगी।

यह जानाकारी देते हुए जीवीके ईएमआरआई के स्टेट हेड धनन्जय कुमार ने बताया कि अभी तक जीपीएस सिस्टम से सूचनाएं मिलती थीं, लेकिन इस एप से कई और तरह की सटीक लोकेशन मिलेंगी और सेवाओं की और गुणवत्ता बढ़ेगी।

प्रदेश में 108 सेवा के तहत 1488 एम्बुलेंस, 102 नेशनल एम्बुलेंस सेवा के तहत 2270 और एएलएस एम्बुलेंस सेवा के तहत 250 एम्बुलेंसों का संचालन हो रहा है। शीघ्र ही 108 सेवा में 712 नई एम्बुलेंसों का बेड़ा जुड़ने वाला है। इसके बाद 15 मिनट में शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों की जनता तक एम्बुलेंस पहुंचेगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper