अब डॉ कफील खान की नहीं होगी रिहाई, योगी सरकार ने लगाई रासूका

लखनऊ। योगी सरकार ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में भड़काऊ बयान देने के आरोप में डॉ. काफील खान(Dr. Kafeel Khan) के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। उत्तरप्रदेश पुलिस और सरकार ने डॉ. खान के खिलाफ रासूका (NSA) के तहत कार्रवाई की है। आज कफील खान जमानत पर रिहा होने वाले थे, लेकिन रासूका लगने से रिहाई संभव नहीं है।

बता दें डॉ कफील खान पर पिछले साल एएमयू में नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान भड़काऊ भाषण देने का आरोप है। यूपी एसटीएफ ने कफील को जनवरी में मुंबई से गिरफ्तार कर लिया था। डॉ. खान की गिरफ्तारी पर सवाल भी उठे थे। हालांकि पुलिस का कहना था कि न्यायिक प्रक्रिया के तहत उन्हें गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस के अनुसार डॉक्टर कफील को भड़काऊ बयान के कारण गिरफ्तार किया गया। उनके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज किया गया है। गिरफ्तार किए जाने पर कफील ने कहा था कि पहले मुझे गोरखपुर के बच्चों की मौत के मामले में क्लीन चिट दी गई। अब फिर से मुझे आरोपी बनाया जा रहा है। मैं महाराष्ट्र सरकार से अनुरोध करता हूं कि मुझे यहां रहने दें, मुझे यूपी पुलिस पर भरोसा नहीं है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पूरी कैबिनेट पेपरलेस होने जा रही है। 18 फरवरी को लखनऊ में हो रही कैबिनेट की बजट बैठक के साथ ही पेपरलेस होने की प्रकिया शुरू हो जायेगी। इसके लिए कैबिनेट के मंत्रियों को आईपैड देने की व्यवस्था की जा रही है। इसके बाद मंत्रियों को बैठक से संबंधित एजेंडा व उससे जुड़ी सामग्री आईपैड पर ऑनलाइन ही उपलब्ध होगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper