अब प्रत्येक ड्रग स्टोर पर मिलेगी स्वाइन फ्लू की दवा

जयपुर: प्रदेश में स्वाइन फ्लू पॉजिटिव के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। मिशिगन वायरस लगातार सक्रिय हो रहा है। बीमारी पर नियंतण्रके लिए अब स्वाइन फ्लू की ओसेल्टामिविर नामक दवा को शिड्यूल एक्स से बाहर कर एच-1 में शामिल कर दिया है। जिससे अब हर ड्रग स्टोर पर दवा आसानी से मिल सकेगी। पहले स्वाइन फ्लू की दवा बेचने के लिए लाइसेंस लेना अनिवार्य था।चिकित्सा विभाग के निदेशक (जन स्वास्य) डॉ. केके शर्मा ने अधिकारियों को मरीज के संपर्क में आने वाले परिजनों को स्क्रीनिंग कर लक्षण होने तुरन्त टेमी फ्लू दवा देने के निर्देश दिए है।

प्रदेश में इस साल अब स्वाइन फ्लू पॉजिटिव के 5090 पॉजिटिव में से 208 लोगों की मौत हो चुकी है। मौजूदा आंकड़ों के अनुसार राजस्थान देश में स्वाइन फ्लू में पहले नंबर पर है। पॉजिटिव में जयपुर और मौत के मामले में जोधपुर पहले नंबर पर है। सर्दी के मौसम में इस रोग का प्रकोप ज्यादा देखा गया है। मौत के बढ़ते आंकड़ों को देखते हुए चिकित्सा विभाग ने सभी सरकारी अस्पतालों में स्वाइन फ्लू के लिए अलग से क्लीनिक खोलने, सर्दी-जुकाम, बुखार के मरीजों के लिए ओपीडी में अलग से पंजीकरण काउंटर स्थापित करने, पल्स ऑक्सीमीटर से जांच के बाद ऑक्सीजन सेचुरेशन 92 फीसद से कम होने पर संदिग्ध मानकर मरीज को भर्ती करने, वीटीएम, पीपीई किट और मास्क 24 घंटे उपलब्ध कराने और जिला, ब्लॉक स्तर एवं प्राथमिक स्वास्य केंद्र स्तर पर हर माह बैठक कर बीमारी पर नियंतण्रके लिए उपाय करने के निर्देश दिए हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper