अयोध्या में बढ़ती भीड़ से डरे इकबाल अंसारी, छोड़ेंगे अयोध्या

दिल्ली ब्यूरो: अयोध्या विवाद शुरू हुआ तो हाशिम अंसारी भी ख्यात हुए। हाशिम अंसारी अयोध्या में बाबरी मस्जिद के पक्षकार थे। वे सबके थे और सब उनके। अयोध्या के लोग उन्हें खूब मानते थे। साधु संत से लेकर आम जनता भी। लड़ते लड़ते हाशिम चले गए। दुनिया छोड़ गए। अब वही मुकदमा उनका लड़का इकबाल अंसारी लड़ रहे हैं। हाशिम जब तक ज़िंदा रहे कभी डरे नहीं। आखिर दर किससे ? लेकिन अब जब देश में एक बार फिर से मंदिर को लेकर संघ बीजेपी बयान दे रही है और तरह तरह के भेष में लोग अयोध्या पहुंचकर बैठके कर रहे है तो इकबाल अंसारी को डर सताने लगा है।

बुधवार को अयोध्या में करणी सेना ने जैसे ही एक बैठक आयोजित की, बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी ने कहा कि अयोध्या में बाहरी आते हैं हिन्दू, मुस्लिम को डर लगता है। इस मामले के पक्षकारों को डर लगता है कि कहीं कुछ हो न जाए। मेरी सुरक्षा न बढ़ाई गई तो 25 तारीख से पहले अयोध्या छोड़ दूंगा। इकबाल अंसारी आज करणी सेना की बैठक को लेकर खासा नाराज नजर आए। उन्होंने इसपर कड़ा विरोध जाहिर किया है। उन्होंने कहा है कि ‘प्रोग्राम जो भी कुछ हो रहा है, चाहे जिसका हो, चाहे शिवसेना का हो चाहे विश्व हिन्दू परिषद का हो, इतनी भीड़ इकट्ठा करने की क्या जरूरत है?

यूपी की संस्कृति भी सबसे प्राचीन: राम नाईक

जब मामला पहले से ही सुप्रीम कोर्ट में है और पक्षकार कह रहा है कि हम बात मानेंगे, हिन्दू पक्षकार भी कह रहा और मुस्लिम पक्षकार भी कह रहा है। इनती भीड़ बढ़ाने का मतलब क्या है?’ इकबाल अंसारी ने कहा कि ‘भीड़ बढ़ती है तो लोगों का नुकसान होता है। मुसलमान भी खतरे में, हिन्दू भी खतरे में, पक्षकार भी खतरे में। क्योंकि इससे पहसे 92 में ये घटना दोहराई गई थी। इतनी भीड़ बढा़ई गई थी कि कोई पब्लिक नेताओं के कब्जे में नहीं थी। उन्होंने कहा कि ‘कौन सा किसका नुकसान हो जाए?

मुसलमानों के मकान जलाए गए, लूटे गए, तोड़े गए, फूंके गए। आज अगर अयोध्या में भीड़ बढ़ेगी तो हम लोग खतरे में आ जाते हैं, हर आदमी डरता है, हर मुसलमान डरता है, हर हिन्दू डरता है। इतनी भीड़ बढ़ी है, बाहर के लोग आ गए हैं, कौन किसको पहचानता है? हमें खुद खतरा महसूस होता है। ‘

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper