आंबेडकर प्रतिमाओं की सुरक्षा में पुलिस मुस्तैद

भोपाल: संविधान निर्माता बाबा साहब डॉ.भीमराव आंबेडकर की प्रतिमाओं की सुरक्षा को लेकर प्रदेश सरकार ने खास इंतजाम के निर्देश दिए हैं। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल और उत्तर प्रदेश के बदायूं में पुलिस ने ऐहतियात के तौर पर संविधान निर्माता बाबा साहेब भीमराव अांबेडकर की प्रतिमा की सुरक्षा के लिए जवान तैनात किए हैं। माना जा रहा है कि 14 अप्रैल को डॉ. आंबेडकर की जयंती के चलते सुरक्षा बढ़ाई गई है।

जयंती मैदान तुलसी नगर भोपाल में प्रशासन को बाबा साहेब की सुरक्षा करने के लिए गार्ड तैनात करने पड़े हैं। उधर उत्तर प्रदेश के बदायूं के बीचों बीच एक चौराहे के निकट लगी डॉ. भीमराव अंबेडकर की एक प्रतिमा को लोहे की सलाखों में बंद कर ताला लगा दिया गया है। डॉ. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा को लोहे के मजबूत जाल में बंद करने की यह घटना सदर कोतवाली क्षेत्र में स्थित गद्दी चौक की है। यहां लगी प्रतिमा को न सिर्फ लोहे के जाल में बंद कर दिया गया है बल्कि, ताला भी लगा दिया गया है, साथ ही यहां पुलिस की ओर से ड्यूटी भी लगी हुई है। तीन होमगार्ड प्रतिमा की 24 घंटे सुरक्षा करते हैं।

पुलिस क्षेत्राधिकारी वीरेंद्र सिंह यादव से जब इस संबंध में जानकारी ली गई तो उन्होंने कहा कि हो सकता है कि किसी ने मूर्ति की सुरक्षा के मद्देनजर ऐसा किया होगा लेकिन किसने किया इसकी कोई जानकारी नहीं है। जांच कराई जाएगी। एसडीएम बदायूं पारसनाथ मौर्य के बताया कि 14 अप्रैल को डॉ. अम्बेडकर जयंती तक मूर्तियों की विशेष सुरक्षा करने के निर्देश दिए गए हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper