आखिर खुल ही गया महिलाओं के मोटे होने का राज़

लखनऊ: महिलाओं की टम्मी निकलना एक आम बात हो चुकी है तोंद निकलने की वजह से महिलाओ की पूरी बॉडी की शेप बिगड़ जाती है और इसी वजह से उन्हें कपड़ों का चुनाव करते हुए 100 बार सोचना पड़ता है। अपनी इस बढ़ी हुई टम्मी को कम करने के लिए महिलाएं डायटिंग और जिम का सहारा लेती हैं लेकिन फिर भी उनका मोटापा घटने का नाम ही नहीं लेता। लेकिन क्या आपने कभी यह जानने की कोशिश की है कि महिलाओं का पेट बाहर निकलने के आखिर क्या कारण हो सकते हैं?

चलिए आज हम आपको इस पोस्ट के जरिए बताते हैं कि महिलाओं में बढ़ती टम्मी के कारण और इसका इलाज

एक शोध के मुताबिक टम्मी बढ़ने के पीछे एनजीओ टेसन कन्वर्ट एंजाइम A.C.E नाम का तत्व होता है डाइट में इस तत्वों का सेवन करने से पेट के आसपास में चर्बी जमा होने लगती है। आइए सबसे पहले आपको बताते हैं महिलाओं में बढती टम्मी के क्या कारण हैं? महिलाओं की निकलती हुई तोंद का सबसे बड़ा कारण है उनके द्वारा गलत खान-पान में बढ़ती हुई लापरवाही है पुरुषों के मुकाबले महिलाएं खाने की ज्यादा शौकीन होती हैं। वह चटपटी चीजें और फास्ट फूड इसी तरह का खाना पसंद करती हैं और इसी वजह से उनकी टम्मी बहुत तेजी से बढ़ने लगती है।

एक तो महिलाओं का आलस और दूसरा जॉब के चलते महिलाएं एक्सरसाइज की तरफ ध्यान देना भूल ही जाती हैं। इतना ही नहीं घर की जिम्मेदारी और जॉब की टेंशन के कारण उनके पास घर पर योग करने तक का समय नहीं होता जिस वजह से उनकी तोंद तेजी से बढ़ने लगती है। जिम्मेदारियों से घिरी महिलाओं के पास पर्याप्त नींद लेने का समय नहीं होता और कभी-कभी तो उनके खाने का समय भी मिस हो जाता है। बस यही वजह है कि पुरुषों के मुकाबले महिलाओं के पेट की चर्बी अधिक बढ़ने लगती है।

बढती हुई टम्मी को कम करने के लिए कुछ आसान टिप्स

डाइट में हमेशा गेहूं की रोटी का सेवन करें इसके अलावा गेहूं और चने के आटे की रोटी बना कर खाएं। इससे शरीर में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम हो जाती है और शरीर में जमा अतिरिक केलोरी भी कम हो जाएगी जिसकी वजह से चर्बी कम हो जाएगी। 1 से 2 दिन या फिर 1 से 2 महीने में कुछ भी नहीं होने वाला आपको इसका लगातार सेवन करना होगा। तभी धीरे-धीरे आप की बढ़ी हुई तोंद कम होगी क्योंकि टम्मी भी धीरे-धीरे ही बढती है और कम भी धीरे-धीरे ही होती है।

आधा चम्मच सोंफ को एक कप गर्म पानी में मिलाएं फिर इस पानी को 10 मिनट के लिए ढक कर रख दें। ठंडा होने के बाद इस पानी को छानकर पी ले रोजाना ऐसा करने से आपकी बढ़ी हुई टम्मी बहुत तेजी से कम होती हुई नजर आएगी। नारियल पानी में इलेक्ट्रोलाइट की मात्रा अधिक होती है इसे रोजाना पीने से शरीर में कैलोरी जमा नहीं होती और मोटापा भी पास नहीं आता। इसके अलावा नारियल पानी=पीने से शरीर में एनर्जी भी नहीं रहती है।

शहद एक कॉन्प्लेक्स सर्करा की तरह है जो आपकी तोंद को कम करने में काफी हद तक आपकी मदद करेगा। एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच शहद मिलाएं और रोजाना सुबह खाली पेट पिएं। ऐसा करने से कुछ ही समय में आपको परिणाम देखने को मिलेंगे आप चाहे तो इसमें एक चम्मच नींबू का रस भी डाल सकते हैं। ऐसा करने से आप की तोंद की बढ़ी हुई चर्बी कम हो जाएगी आप इस पानी का रोजाना सुबह खाली पेट सेवन करें।

अगर आप पुदीने की पत्तियों की ताज़ी हरी चटनी को रोटी के साथ खाएंगे। तो यह भी काफी असरदार होती है अब तो आप समझ ही गए होंगे कि महिलाओं की तोंद निकलने के पीछे आखिर कौन-कौन से कारण होते हैं और किन घरेलू आयुर्वेदिक उपाय से हम इसे आसानी से कम कर सकते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper