आज ही जानिए 2019 में कब-कब पड़ेंगे ग्रहण, किसके लिए साबित होंगे फायदेमंद

नई दिल्ली: वर्ष 2019 खगोलीय घटनाओं के चलते कुछ विशेष होगा। ज्योतिषीय गणना के अनुसार, साल 2019 में कुल 5 ग्रहण पड़ेंगे। इनमें 3 सूर्य ग्रहण होंगे और 2 बार चंद्रमा ग्रहण से पीड़ित होंगे। साल का पहला ग्रहण सूर्यग्रहण होगा और यह जनवरी के पहले सप्ताह में पड़ेगा। वैज्ञानिकों के अनुसार, ग्रहण एक खगोलीय घटना है। लेकिन ज्योतिष में इसका अपना महत्व होता है। ज्योतिषियों के अनुसार, सूर्य और चंद्रग्रहण का अलग-अलग राशियों पर अलग प्रभाव पड़ता है। साथ ही इसके अशुभ प्रभावों से बचने के लिए ज्योतिष शास्त्र में कुछ उपाय भी बताए गए हैं।

साल 2019 में कुल तीन सूर्य ग्रहण लगेंगे। इनमें से 2 ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देंगे। इस साल जनवरी महीने में ही दो ग्रहण हैं। इनमें एक सूर्य ग्रहण और दूसरा चंद्रग्रहण है। साल का पहला ग्रहण सूर्यग्रहण है और जनवरी के पहले सप्ताह में ही यह सूर्यग्रहण लगेगा। हालांकि यह आंशिक ग्रहण होगा और भारत में नहीं दिखाई देगा। जनवरी की 6 तारीख को यह ग्रहण प्रभावी होगा। भारतीय समय के हिसाब से सुबह 5 बजकर 4 मिनट पर शुरू होगा और सुबह 9 बजकर 18 मिनट तक प्रभावी रहेगा। साल का दूसरा सूर्य ग्रहण 2 जुलाई को लगेगा। यह पूर्ण सूर्य ग्रहण होगा और यह ग्रहण भी भारत में नहीं दिखाई देगा। इस सूर्यग्रहण का समय रात 11 बजकर 31 मिनट से 2 बजकर 15 मिनट तक लगेगा। यह ग्रहण दिसंबर महीने की 26 तारीख को पड़ेगा। यह 8 बजकर 17 मिनट पर लगेगा और 10 बजकर 57 मिनट पर संपन्न होगा।

साल 2019 में 2 चंद्रग्रहण लगेंगे और इनमें से एक चंद्रग्रहण भारत सहित अन्य एशियाई देशों में दिखाई देगा। साथ ही साल का पहला चंद्रग्रहण दिन के समय लगेगा। साल का दूसरा ग्रहण और पहला चंद्रग्रहण जनवरी महीने के तीसरे सप्ताह में पड़ेगा। यह ग्रहण 21 तारीख को प्रात: 9 बजकर 3 मिनट से शुरू होकर दोपहर 12 बजकर 21 मिनट तक लगेगा। यह ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा। 16 जुलाई को दूसरा चंद्रग्रहण यह ग्रहण रात में 1 बजकर 31 मिनट से सुबह 4 बजकर 29 मिनट तक लगेगा। यह ग्रहण भारत सहित एशिया के अन्य देशों में भी दिखाई देगा। यह ग्रहण आंशिक चंद्रग्रहण है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
loading...
E-Paper