आतंकी हमले में गाजीपुर का लाल शहीद

गाजीपुर। जम्मू-कश्मीर में पुलवामा के समीप अखनूर घाटी में 28 फरवरी को आतंकवादियों व सीआरपीएफ जवानों के बीच हुए मुठभेड़ में स्थानीय थाना क्षेत्र केहसनपुरा जरगों गांव के निवासी श्यामनारायण यादव शहीद हो गये। आज सुबह से ही परिजनों सहित क्षेत्र के लोग उनके पार्थिव शरीर का इंतजार कर रहे हैं। जंगीपुर विधायक डा. वीरेंद्र यादव, पूर्व सांसद राधेमोहन सिंह, विजय यादव, जैकिशुन साहू, राजेंद्र यादव, बलिराम पटेल, मुलायम यादव आदि ने शहीद जवान के घर पहुंचकर परिजनों को ढाढस बंधाया।

इस दौरान जंगीपुर विधायक डा. वीरेंद्र यादव ने सरकार से शहीद परिवार को एक करोड़ रुपया देने की मांग किया। उन्होंने शहीद के नाम से एक सड़क और गेट बनावाने की घोषणा की। श्यामनारायण यादव सीआरपीएफ में 1991 में रामपुर झांसी में भर्ती हुए थे। उनकी शादी प्रमिला देवी से हुई थी। उनके पिता मुखराम यादव की दो साल पहले मृत्यु हो गयी। उन्होंने गरीबी में अपने पांचों बेटों को पढ़ाया। शहीद जवान के दो पुत्र हैं, सबसे बड़ा पुत्र अरविंद यादव (20) व छोटा पुत्र प्रवीण यादव स्नातक कर इलाहाबाद में तैयारी कर रहा है।

शहीद जवान की मां सिताबी देवी (105) वर्ष जो चारपाई पर ही विलाप कर रही थी कि हम केके सिपाही कह के बोलैइबें हो भगवान, अपने लाल क मुहवां कइसे देखब हो भगवान। वहीं शहीद की पत्नी प्रमिला देवी का रो-रोकर बुरा हाल था। वह रह-रह कर बेहोश हो जा रही थीं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper