आर्टिकल 370 हटने के बाद ADG मुनीर खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया जम्मू कश्मीर में कैसे हैं हालात

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर के हालात को लेकर एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) मुनीर खान ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की. इसमें उन्होंने बताया बताया कि जम्मू में लगाए गए प्रतिबंधों को पूरी तरह हटा लिया गया है लेकिन कश्मीर में कुछ स्थानों पर कुछ वक्त तक पाबंदियां लागू रहेंगी.

अतिरिक्त महानिदेशक मुनीर खान ने बताया कि जम्मू कश्मीर में स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है और किसी को भी कोई बड़ी चोट नहीं आयी है. उन्होंने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “जम्मू में लगाई गई पाबंदियां पूरी तरह हटा ली गई हैं. कश्मीर के कुछ स्थानों पर कुछ समय तक ये जारी रहेंगी.” उन्होंने बताया कि कुछ ही लोगों को पैलेट की वजह से कुछ जख्म हुए हैं जिनका इलाज किया गया है.

उन्होंने आगे कहा कि साल 2010 और 2016 के कुछ वीडियो वायरल कर लोगों की भावनाओं को भड़काने का प्रयास किया जा रहा है. पुलिस इसे रोकने के लिए प्रभावी कदम उठा रही है. इससे पहले जम्मू कश्मीर के प्रिंसिपल सेक्रेटरी समाज कल्याण रोहित कंसल ने कहा था कि लोगों की जान बचाने के लिए ही एक हद तक पाबंदी है. नागरिकों की सुरक्षा सरकार की प्राथमिकता है. उन्होंने बताया था कि पिछले एक हफ्ते में किसी भी व्यक्ति की मौत नहीं हुई है.

उधर, जम्मू कश्मीर से धारा 144 हटाने की याचिका पर जल्‍द सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट ने इनकार कर दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मामला संवेदनशील है. इसमें सरकार को वक्त मिलना चाहिए. सरकार पर विश्वास करना होगा. यह मामला बेहद संवेदनशील है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper