आलिया, श्रद्धा, सोनम, सोहा और सिद्धार्थ की ये अजीबो-ग़रीब आदतें!

हम सभी की कोई ऐसी आदत ज़रूर होती है, जो ख़ुद हमें भी अजीब लगती है. हम गाहे-बगाहे उन आदतों को स्वीकार करते हैं. इन जानी-मानी हस्तियों ने अपनी ऐसी ही आदतों के बारे में फ़ेमिना को बताया.

Bizarre habits of Alia, Shraddha, Sonam, Soha and Siddharth

आलिया भट्ट
‘‘हर किसी को गर्म खाना पसंद होता है, लेकिन इस मामले में मेरी आदत थोड़ी हटकर है. मुझे गर्म खाना बिल्कुल भी नहीं रुचता. यहां तक कि कॉफ़ी भी ठंडी ही पसंद है. जब खाना ठंडा हो जाता है, तभी मुझको उसका स्वाद पता चल पाता है. और बिना स्वाद लिए खाना भला कौन खाना चाहेगा?’’

Bizarre habits of Alia, Shraddha, Sonam, Soha and Siddharth

श्रद्धा कपूर
‘‘मुझे जूते ख़रीदने की आदत हो गई है. मैं जहां भी जाती हूं, वहां से भले ही कुछ और न ख़रीदूं एक जोड़ी सैंडल ले ही लेती हूं. आपको मेरे कमरे में सबसे ज़्यादा जूते ही मिलेंगे. मैंने जो नया घर लिया है वह अपनी ऑफ़िशियल मीटिंग्स और अपने जूतों के बड़े से कलेक्शन को ठीक से रखने के लिए लिया है. वर्ना रहने के लिए तो पापा का घर ही सबसे अच्छा है.’’

Bizarre habits of Alia, Shraddha, Sonam, Soha and Siddharth

सोनम कपूर
‘‘मुझे साफ़-सफ़ाई को लेकर सनक है. इसे आप ओसीडी (ओब्सेसिव कम्पल्सिव डिस्ऑर्डर) कह सकते हैं. अपने कमरे की सफ़ाई, ख़ासकर अपनी अल्मारी को लेकर मैं बहुत पज़ेशिव हूं. मैं अपनी अल्मारी किसी को भी छूने नहीं देती. उसकी सफ़ाई से लेकर, उसे व्यवस्थित करने का काम मैं ख़ुद ही करती हूं. मुझे अपना बाथरूम एकदम साफ और चमकता हुए चाहिए होता है. कई बार तो मैं ख़ुद इसे साफ़ करने में जुट जाती हूं. हां, एक चीज़ जो मुझे बिल्कुल नहीं पसंद, वह है अपना बिस्तर लगाना.’’

Bizarre habits of Alia, Shraddha, Sonam, Soha and Siddharth

सोहा अली ख़ान
‘‘पता नहीं क्यों, जब भी मैं प्लेन पर चढ़ती हूं तो मुझे लगने लगता है कि यह मेरा आख़िरी सफ़र है. यही कारण है कि हर बार प्लेन में चढ़ने के बाद मैं कुणाल को फ़ोन ज़रूर करती हूं. यदि उनसे मेरी लड़ाई हुई होती है तो मैं सामने से बात कर लेती हूं. उन्हें सॉरी कह देती हूं. साथ रहते-रहते अब मेरी यह आदत कुणाल को भी लग गई है. वे भी हर फ़्लाइट के टेकऑफ़ के पहले मुझसे बात ज़रूर करते हैं.’’

Bizarre habits of Alia, Shraddha, Sonam, Soha and Siddharth

सिद्धार्थ मल्होत्रा
‘‘मेरी ईटिंग हैबिट थोड़ी नहीं, काफ़ी अजीब है. वैसे यह मुझे मेरी मां से मिली है. मेरी मां गुलाब जामुन के साथ अचार खाना पसंद करती हैं. उनकी वजह से मैं भी गुलाब जामुन को अचार के साथ मज़े लेकर खाता हूं. मुझे इस अजीब मेल का स्वाद लाजवाब लगता है. जब मैं अपसेट होता हूं तो अपनी इसी ईटिंग हैबिट के चलते अच्छा महसूस करता हूं. मेरे दूसरे पसंदीदा, पर अजीबोग़रीब कॉम्बिनेशन्स हैं-आइसक्रीम के साथ रोटी और चावल के साथ चॉकलेट मूस!’’

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper