आशाएं रखेंगी बच्चों के विकास पर नजर

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के इंदिरा नगर स्थित संभागीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण प्रशिक्षण केंद्र में एचबीवाईसी (होम बेस्ड यंग चाइल्ड केयर) कार्यक्रम के अंतर्गत पांच दिवसीय प्रशिक्षण संपन्न हुआ।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर नरेंद्र अग्रवाल ने 24 सफल प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र वितरित किए। इसमें प्रत्येक ब्लॉक से एक चिकित्सा अधिकारी, एक स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी तथा 2 स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि थे। इन सभी प्रतिभागियों को गृह आधारित शिशु देखभाल कार्यक्रम के अंतर्गत प्रशिक्षण प्रदान किया गया। यह सभी प्रशिक्षक अपने-अपने ब्लॉक में जाकर आशाओं को प्रशिक्षित करेंगे।

इस अवसर पर प्रशिक्षणार्थियों को संबोधित करते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर नरेंद्र अग्रवाल ने बताया कि अब तक आशाएं केवल 6 सप्ताह तक के शिशुओं की गृह आधारित नवजात देखभाल करती थी अब इस कार्यक्रम का विस्तार करके 15 महीने की आयु तक के शिशुओं को इस कार्यक्रम में सम्मिलित किया गया है। यहां प्रशिक्षित सभी प्रशिक्षक ग्रामीण क्षेत्रों में आशाओं को 15 महीने तक के शिशुओं की घर पर देखभाल, स्तनपान के साथ-साथ पूरक आहार, पोषण तथा उनके वृद्धि एवं सभी माइलस्टोन पर कड़ी नज़र रखेंगी।

आशाएं घर पर जाकर जांच करेंगी कि बच्चों का वजन तथा उनकी हाइट उम्र के अनुसार बढ़ रही है अथवा नहीं। इससे बच्चों में कुपोषण का पता जल्दी लगाया जा सकेगा और उसका निदान भी करना संभव होगा। इस प्रशिक्षण में डा.रुखसाना , विष्णु यादव डीसी पीएम, सादिया अंसारी तथा योगेश रघुवंशी जिला स्वास्थ शिक्षा अधिकारी ने जिला स्तरीय प्रशिक्षकों को प्रशिक्षण प्रदान किया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper