इंडोनेशिया में आए भूकंप में अब तक 82 मरे, सैकड़ों घायल

जकार्ता: इंडोनेशिया के लॉमबोक द्वीप पर रविवार को आए शक्तिशाली भूंकप में अब तक 82 लोगों की मौत की पुष्टि हो गई है। इस भूकंप में सैकड़ों लोग घायल हुए हैं। यह जानकारी सोमवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली। अमेरिकी भूगर्भीय सर्वेक्षण के मुताबिक, रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता सात मापी गई थी। इस भूकंप से हजारों इमारतों को नुकसान पहुंचा है। कई जगहों पर बिजली भी गुल है।

विदित हो कि पर्यटन स्थल लॉमबोक में एक सप्ताह पहले भी एक भूकंप आया था जिसमें कम से कम 16 लोगों की मौत हो गई थी। इस बार भूकंप आने के बाद सूनामी की चेतावनी जारी कई गई थी, मगर कुछ घंटों बाद यह वापस ले ली गई। इंडोनेशिया की आपदा प्रबंधन एजेंसी के प्रवक्ता ने बताया कि लॉमबोक के मुख्य शहर मताराम में कई इमारतें प्रभावित हुई हैं। इनमें से ज्यादातर खराब निर्माण सामग्री से तैयार की गई थीं।

मताराम में रहने वाले ईमान नाम के एक शख्स ने इन शक्तिशाली झटकों के बारे में बताया, “हर कोई तुरंत अपने घर से बाहर की तरफ भागा। हर कोई हड़बड़ी में था।” बाली में कई सेकेंडों तक झटके महसूस किए जाते रह। बाली की राजधानी देनपसार में काम करने वाले एक शख्स ने बीबीसी को बताया, “शुरू में तो छोटे झटके आए, मगर धीरे-धीरे वे तेज हो गए। लोगों ने चिल्लाना शुरू किया- भूकंप। अस्पताल के सारे स्टाफ हड़बड़ा गया और सभी ने बाहर की ओर भागना शुरू कर दिया।” बाद में मरीजों को अस्पताल से बाहर निकालना पड़ा।

बहरहाल इंडोनेशिया के दोनों द्वीपों पर हवाई सेवाएं सामान्य हैं मगर बाली के देनपसार एयरपोर्ट पर भूकंप के कारण हल्का नुकसान हुआ है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper