इन कारणों से शादी के बाद बढ़ जाता है महिलाओं का वजन, जानिए मोटापा रोकने के उपाय

आपने महिलाओं को अक्सर ये कहते हुए सुना होगा कि उनका वजन शादी के बाद अचानक से बढ़ गया है। आखिर यह कोई शारीरिक प्रकिया है या फिर उनकी ही लापरवाही का नतीजा है। आज हम आपको इसी विषय के बारे में बताएंगे। हम बताएंगे कुछ अनजाने कारण जिनकी वजह से शादी के बाद औरतों में मोटापा बढ़ता है।

गर्भावस्ता

ज्यादातर जोड़े शादी के 1-2 साल के अंदर बच्चा प्लान कर लेते हैं। ज्यादातर महिलाएं प्रेगनेंसी के दौरान बढे हुए बजन को बच्चे के जन्म के बाद भी कम करने की कोशिश नही करतीं।

प्राथमिकता में बदलाव

शादी के बाद महिलाओं की प्राथमिकताएं बदल जाती हैं. ज्यादातर पति और दुसरे फॅमिली मेम्बेर्स के अनुसार रूटीन बन जाता हैं. खुद पर ध्यान नही दे पातीं और वजन लगता है।

स्ट्रैस

कई महिलाओं के लिए शादी के बाद नए माहोल में ढलना काफी मुश्किल होता है। इससे स्ट्रेस बढ़ता है और ज्यादा स्ट्रेस ईटिंग करने लगती है।

लापरवाही

महिलाएं शादी के पहले अपने लुक्स को लेकर सजग रहती हैं और एक्सरसाइज करती हैं। लेकिन शादी के बाद बिजी लाइफ के कारण फिटनेस का ख्याल रखना भूल जाती हैं या कहें कि मुश्किल हो जाता है।

नींद

ज्यादातर महिलाओं का शादी के बाद स्लीपिंग टाइम और पैटर्न चेंज हो जाता है। कई बार नींद पूरी नही होती कम सोना भी वजन बढ़ने का एक बड़ा कारण है।

हार्मोनल बदलाव

शादी के बाद की बदली हुई लाइफस्टाइल के कारण महिलाओं कि बॉडी में कई हार्मोनल चंजेस होते हैं। ये भी वजन बढाने के लिए जिम्मेदार होते हैं।

वजन घटाने के लिए करें इन फूड्स का सेवन

  • रोज सुबह खाली पेट कच्चा टमाटर खाएं जिससे भूख कंट्रोल करने और वजन घटाने में मदद मिलेगी.
  • खाने में ज्यादा मात्रा में मिर्च शामिल करें इसमें काप्सीसन नमक तत्व होता है जो बॉडी फैट तेजी से घटाता है
  • रोज एक छोटा टुकड़ा अदरक चुसे या खाने से पहले एक छोटा चम्मच अदरक के रस में जरा सा काला नमक मिलाकर पिए.
  • रोज सुबह खाली पेट एक छोटा चम्मच हल्दी पाउडर खाकर गुनगुना पानी पिए.
  • रात में एक गिलास गर्म पानी में 3 चम्मच सोंफ डालकर रख दें, सुबह इस पानी को छानकर पी लें.
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper