इस क्रीम का इस्तेमाल करने वाले 99% लोग नहीं जानते यह बात, जरूर जानें

आज भाग-दौड़ भरी दुनिया में कोई चीज आपकी पहचान बनती है तो वह है आपका चेहरा परन्तु कई बार लोग अपने त्वचा पर ध्यान नहीं देते है, जिससे त्वचा बेजान हो जाती है। लोग अपनी त्वचा की रंगत और इस परेशानियों से निजात पाने के लिए हर तरह की चीजों का इस्तेमाल करते हैं। इन क्रीमों का इस्तेमाल लोग अपने चेहरे की त्वचा को गोरा करने के लिए और चेहरे से दाग-धब्बो को हटाने के लिए धड़ल्ले से कर रहे हैं परन्तु वे एक जरुरी बात से अनजान है।

यह बात बेहद कम लोगो को ही पता है की बेटनोवेट क्रीम अलग-अलग बेसेस में मौजूद है जिनका इस्तेमाल लोग करते हैं। इस क्रीम में बेटामेथसोन नामक केमिकल पाया जाता है। जब आप इसकी मात्रा को देखेंगे तो ये 0.05% की होती है। इस केमिकल की इतनी सी मात्रा आपके स्किन सेल्स को ख़त्म कर देती है। जब आप इस क्रीम को दाग धब्बो वाली जगह पर लगाते हैं तो इससे दाग-धब्बो वाले स्किन सेल्स ख़त्म हो जाते हैं और वहां नए स्किन सेल्स बन जाते हैं।

इस क्रीम का साथ पेंच है कि अलग-अलग उम्र के लोगो में स्किन सेल्स बनाने की गति अलग होती है। आप जैसे-जैसे बूढ़े होते हैं वैसे-वैसे ये और कम होती जाती है। इसी वजह से बूढ़े लोगो की त्वचा पर झुर्रियां आती है। अगर आप लम्बे समय तक इस क्रीम का इस्तेमाल करेंगे तो हो सकता है कि आपकी त्वचा बेहद पतली हो जाए जिसका खामियाजा आपको बाद में उठाना पड़ सकता है। बेहतर यही है इस क्रीम का इस्तेमाल अभी भी एक महीने से ज्यादा न करें अथवा डॉक्टर की सलाह लेकर ही एक महीने से ज्यादा इस क्रीम का इस्तेमाल करें।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper