इस दिशा की तरफ मुख करके सोने से होती है धन की वर्षा

पूर्व (पूर):

यह दिशा प्रभु इंद्र द्वारा शासित है और वह ईश्वर का राजा होने के लिए जाना जाता है। वह जीवन का धन और सुख प्रदान करता है।

दक्षिण-पूर्व (अंगेनी):

यह दिशा अग्नि-अग्नि के प्रभु द्वारा संचालित है वह हमें अच्छे व्यक्तित्व और जीवन की सभी अच्छी चीजें देता है आग स्वास्थ्य का एक स्रोत है क्योंकि यह आग, खाना पकाने और भोजन से संबंधित है।

दक्षिण (दक्षिण):

यह दिशा यम का है, मौत का देवता। वह धर्म की अभिव्यक्ति है, और बुरी ताकतों को समाप्त कर देता है और अच्छी चीजों का त्याग करता है। यह धन, फसलों और आनंद का एक स्रोत है|

दक्षिण-पश्चिम (नैरोतिया):

यह निर्देश निरूति द्वारा निर्देशित है, भगवान जो हमें बुराई शत्रुओं से बचाता है। यह चरित्र, आचरण, दीर्घायु और मौत का मामला है।

पश्चिम (Paschima):

यह दिशा भगवान वरुण द्वारा निर्देशित है, जो बारिश के स्वामी हैं। वह प्राकृतिक जल-बारिश के रूप में अपने आशीर्वाद देता है, जीवन की समृद्धि और सुख लाता है।

उत्तर-पश्चिम (वेयाव्य):

यह स्थान भगवान वायु द्वारा निर्देशित है और वह हमें अच्छे स्वास्थ्य, शक्ति और लंबे जीवन को लाता है। व्यापार, दोस्ती और शत्रुता के दौरान यह परिवर्तन का एक स्रोत है।

उत्तर (उत्तर):

यह दिशा कुबेर, धन के देवता द्वारा शासित है।

उत्तर-पूर्व (लक्ष्या):

यह स्थान स्वामी ईशाहन की देखरेख है, और धन, स्वास्थ्य और सफलता का एक स्रोत है। वह ज्ञान लाता है और हमें सभी दुःखों और दुर्घटनाओं से मुक्ति देता है हमें पूर्व की और मुख करके सोना चाहिये।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper