उत्तर भारत में शीतलहर जारी, हो सकती बारिश और बर्फबारी

नई दिल्ली: पश्चिमी विक्षोभ के कारण अगले कुछ दिनों में मैदानी इलाकों में छिटपुट बारिश का अनुमान है। उत्तर भारत के पहाड़ों पर इस सर्दी के मौसम में अच्छी बारिश और बर्फबारी हो रही है। जम्मू कश्मीर में पिछले 24 घंटों के दौरान भी हल्की वर्षा हुई है। इससे एक बार फिर ठंड बढ़ सकती है, जिसका असर दिल्ली और यूपी के जिलों में देखने को मिलेगा। स्काइमेट के अनुसार 24 घंटों के दौरान हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लगभग सभी हिस्सों में बारिश और हिमपात की संभावना है।

आज भी कुछ जगहों पर स्नोफॉल का पूर्वानुमान है। हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में पिछले 24 घंटों में हुई हल्की बर्फबारी और बारिश को देखते हुए मौसम विभाग ने 13 और 16 जनवरी को राज्य में भारी बारिश और बर्फबारी की आशंका के कारण नारंगी और येलो चेतावनी जारी की है। दिल्ली में न्यूनतम तापमान 7.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो वर्ष के इस समय के लिए सामान्य है। वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 327 दर्ज किया गया, जो ‘बहुत खराब श्रेणी में आता है।

मौसम विभाग ने सोमवार को दिल्ली में हल्की बारिश के साथ आसमान में बादल छाए रहने का अनुमान जताया है। सोमवार सुबह दिल्ली में न्यूनतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में लोगों को बर्फ से आच्छादित इलाकों और ऊंचाई वाली जगहों पर नहीं जाने की सलाह दी गई है। पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper