उप्र: भाजपा विधायक ने इंस्पेक्टर को धमकाया, आॅडियो वायरल

मेरठ: उत्तर प्रदेश में एक बार फिर एक भाजपा नेता का इन्स्पेक्टर को धमकाने का मामला सामने आया है। जी हां हस्तिनापुर से भाजपा विधायक दिनेश खटीक और इंस्पेक्टर मवाना एमपी सिंह के बीच हुई बातचीत का आॅडियो वायरल होने से प्रशासनिक हलकों में खलबली मच गई है। इस आॅडियो में भाजपा विधायक बेखौफ होकर इंस्पेक्टर मवाना को अपनी बात न मानने पर उनके बलिया तबादला कराने की धमकी देते हुए सुनाई दे रहे हैं। वहीं, ‘खादी’ के खौफ के सामने कोतवाल विधायक की मान-मनौव्वल करते हुए थाने की जीडी में भी हेरफेर करने की बात करने से नहीं कतरा रहे।

शुक्रवार को शहर के तमाम मीडिया ग्रुप्स में वाट्सअप पर एक आॅडिया वायरल हुआ। 02 मिनट 47 सेकंड के इस आॅडियो में दो शख्स बातचीत कर रहे हैं। इनमें से एक आवाज इंस्पेक्टर मवाना एमपी सिंह और दूसरी आवाज मवाना-हस्तिनापुर विधानसभा सीट से भाजपा विधायक दिनेश खटीक की होने का दावा किया जा रहा है। आॅडियो में खुद को विधायक बताने वाला व्यक्ति इंस्पेक्टर मवाना को बुरी तरह से धमकाते हुए अपने द्वारा काॅल किए जाने के बावजूद किसी व्यक्ति के खिलाफ धारा 151 में कार्यवाही किए जाने को लेकर इंस्पेक्टर से नाराजगी जता रहा है।

वहीं इंस्पेक्टर खुद को लाचार बताते हुए सफाई दे रहे हैं कि मामला तो 377 का था, लेकिन विधायक की सिफारिश पर उन्होंने मात्र 151 की धारा में कार्यवाही की है। इंस्पेक्टर का कहना है कि 151 में कोर्ट जाते ही जमानत हो जाएगी। वहीं, गुस्से से आगबबूला विधायक इंस्पेक्टर को अपनी हद में रहने की नसीहत देते हुए धमकी देते हैं कि वह अब उन्हें दोबारा काॅल नहीं करेंगे, साथ ही उनका तबादला बलिया करा देंगे। विधायक इंस्पेक्टर पर दूसरी पार्टी से रिश्वत खाने का आरोप भी लगा रहे हैं। जिस पर इंस्पेक्टर अपने बच्चों की कसम खाकर रिश्वत लेने की बात से इंकार करते हैं।

साथ ही यह भी कहते सुनाई दे रहे हैं कि विधायक जी आप नाराज न हों यदि आप कह रहे हैं तो मैं थाने की जीडी से वो पेज ही उड़ा दूंगा जिसमें आपके आदमी के खिलाफ 151 दर्ज है। इंस्पेक्टर आरोपी को बिना किसी कार्यवाही के छोड़े जाने का आश्वासन देते हुए सुनाई दे रहे हैं। आॅडियो से साफ जाहिर है कि इंस्पेक्टर ने विधायक के दबाव में आकर जीडी से छेड़छाड़ जैसा संगीन जुर्म भी किया है। वहीं, यह भी जाहिर हो रहा है कि विधायक सत्ता के नशे में चूर होकर इंस्पेक्टर पर गलत काम करने का दबाव बना रहे हैं। शुक्रवार को उक्त आॅडियो वायरल होने के बाद अधिकारियों में हड़कंप मचा है। इस मामले में इंस्पेक्टर मवाना एमपी सिंह से बात करने पर उन्होंने कोई सफाई देने से इंकार कर दिया। जबकि विधायक ने भी चुप्पी साध ली है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper