एक बार यह चीज चेहरे पर लगा लो फिर जिंदगी में कभी नहीं आएंगे कील-मुहांसे

दोस्तों जैसा कि सभी लोग जानते हैं कि आजकल के जमाने में बहुत सारे लोगों को चेहरे पर दाने और कील मुहांसों की समस्या हो ही जाती है और इसकी वजह से उनकी ख़ूबसूरती खराब होने लगती है। लेकिन दोस्तों अगर आपका चेहरा साफ हो तो आपकी खूबसूरती बढ़ जाती है और अगर आपके चेहरे पर कील मुहासे और पिंपल है तो ना चाहते हुए भी आपका चेहरा काफी खराब लगने लगता है।

इसीलिए आज की खास पोस्ट में हम आपको एक ऐसी चीज के बारे में बताने वाले हैं जिसके इस्तेमाल से आपके चेहरे पर कभी भी पिंपल, कील-मुंहासे, दाने कभी नहीं निकलेंगे। जैसे कि आप सभी जानते हैं कि बहुत सी लड़कियां और लड़के अपने चेहरे के कील मुंहासे हटाने के लिए अलग-अलग तरह के प्रोडक्ट का इस्तेमाल करते हैं। इन चीजो से उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता है। लेकिन आज हम आपको एक ऐसा जबरदस्त नुस्खा बताने वाले हैं जिसे अगर आप साल में एक बार अपने चेहरे पर लगा लेंगे तो आपके चेहरे पर कील मुहासे और दाने की समस्या कभी नहीं होंगी।

हम जो नुस्खा आपको बताने वाले हैं वह है चंदन का नुस्खा इसको बनाने के लिए आपको चंदन पाउडर और गुलाब जल की आवश्यकता पड़ेगी। इन दोनों मैं ऐसे कई सारे गुण पाएंगे जो आपके चेहरे की सारी गंदगी को साफ कर देते हैं। जैसे की कील, मुहासे, दाने यहां तक की दाने निकलने के बाद जो दाग धब्बे छूट जाते हैं इन सभी से आपको छुटकारा मिल सकता है। और वह देगा चंदन और गुलाब जल।

आपको इस नुस्खे को बनाने के लिए थोडा सा चंदन का पाउडर लें और उसमें थोड़ा सा गुलाबजल डालकर दोनों को अच्छी तरह से मिक्स करके इसका एक पेस्ट बनाकर तैयार कर लें और फिर इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगालें सूख जाने के बाद इसे साफ पानी से धो लें। इससे आपका चेहरा एकदम साफ हो जाएगा चाहे कितने भी दाग धब्बे कील मुंहासे हो सब के सब एकदम गायब हो जाएंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper