एमेजॉन में लकी ड्रा का झांसा देकर 40 हजार की ठगी

लखनऊ: एमेजॉन में लकी ड्रा में लैपटॉप गिफ्ट का झांसा देकर जालसाज ने युवक से कई बार में 40 हजार रुपये ऐंठ लिए। कम्पनी अधिकारी बनकर जालसाज ने कभी सिक्योरिटी, कभी जीएसटी तो कभी व अन्य बहाने से रुपये खाते व पेटीएम में मंगवाए। पीड़ित ने सरोजनीनगर थाने में रिपोर्ट दर्ज करायी है। इंस्पेक्टर प्रमेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि पीड़ित के खाता व पेटीएम नम्बर के आधार पर जांच की जा रही है।सरोजनीनगर के नादरगंज स्थित सिपेट कालेज हॉस्टल में अनुत्तम कुमार सिंह रहते हैं।

उनका कहना है कि बीते गुरुवार को वह एमेजॉन पर ऑनलाइन शापिंग के लिए सर्च कर रहे थे। इसी बीच उनके पास एक कॉल आयी। फोनकर्ता ने खुद को एमेजॉन कम्पनी का कर्मचारी बताया। जालसाज ने झांसा दिया कि आपका मोबाइल नम्बर एमेजॉन लकी ड्रा में सेलेक्ट हुआ है। लिहाजा कम्पनी से आपको एक लैपटॉप गिफ्ट मिलेगा। उससे पहले आपको 5 हजार रुपये जमा करने होंगे। उक्त रकम बाद में वापस कर दी जाएगी। झांसे में फंसाकर जालसाज ने अनुत्तम से खाते में रुपये मंगवा लिए। उसके बाद जालसाज ने जीएसटी के नाम पर 11,999 रुपये जमा कराए।

पीड़ित अनुत्तम का कहना है कि जालसाज ने कई बार में उससे कुल 40 हजार रुपये पेटीएम व बैंक खाते में जमा करवा लिए। झांसा दिया कि रकम वापस हो जाएगी। उसके बाद से अभी तक न ही अनुत्तम को लैपटॉप गिफ्ट मिला और न ही रुपये वापस आए। पीड़ित ने आपबीती परिचितों को बतायी तो ठगी की बात सामने आयी। पीड़ित अनुत्तम कुमार सिंह ने सोमवार को सरोजनीनगर पुलिस से शिकायत की। पुलिस ने तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper