एयर स्ट्राइक के बाद पहली बार अटारी रवाना हुई समझौता एक्सप्रेस

नई दिल्ली: भारतीय वायुसेना की पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में आतंकी ठिकानों पर कार्रवाई और वायुसेना के जांबाज विंग कमांडर पायलट अभिनंदन की वतन वापसी के बाद रविवार को समझौता एक्सप्रेस दिल्ली से अटारी के लिए रवाना हुई। इससे पहले भारतीय वायुसेना द्वारा की गई कार्रवाई के बाद पाकिस्तान ने अपनी ओर से ट्रेन सेवा रद्द कर दी थी, जिसके बाद भारत ने भी 28 फरवरी को समझौता एक्सप्रेस ट्रेन का परिचालन रद्द कर दिया था।

बताया जा रहा है कि रविवार को अटारी के लिए रवाना हुई समझौता एक्सप्रेस में केवल 12 पाकिस्तानी यात्रियों ने ही टिकट बुक करवाई है। रेलवे सुरक्षा बल के इंस्पेक्टर मनोज कुमार ने बताया कि सभी 12 यात्री पाकिस्तान के रहने वाले हैं। हमने सुरक्षा जांच को और अधिक कड़ा किया है। हर यात्री के सामान को डॉग स्कवॉड ने भी चेक किया।

दिल्ली की जेलों के अंदर हर गतिविधि पर नजर रखने लगेंगे 6 हजार सीसी कैमरे

ट्रेन में यात्रा कर रहे एक पाकिस्तानी दंपति नसीमुद्दीन और अमीना बेगम ने कहा कि हम आगरा में अपने परिवार की एक शादी में शामिल होने आए थे। हमारे पास 6 अप्रैल तक का वीजा था लेकिन हमें वापस पाकिस्तान जाने के लिए कह दिया गया। हमें तत्काल वापस जाने के लिए निर्देश दिए गए। उन्होंने कहा कि दोनों ओर ही आतंकवाद ने अपनी जड़ें फैला रखी हैं। दोनों देशों को एकसाथ बातचीत कर आतंकवाद को समाप्त करना चाहिए। भारत और पाक के बीच तनाव बढ़ने पर दोनों देशों के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस की सेवाओं को भारतीय रेलवे ने फिलहाल 3 मार्च तक रद्द करने की घोषणा की थी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper