ऐसे लगाएं अपने घर में मनी प्लांट, बरकत के साथ घर में आएंगी खुशियां

नई दिल्ली : हर कोई चाहता है की उसके घर में खुशियां आए और सब स्वस्थ रहे। लोग अपनी तरफ से इसकी पूरी कोशिश करते रहते है लेकिन किसी किसी की परेशानी ख़त्म होने का नाम ही नही लेती है। यदि आपके साथ भी एसा ही है तो आज हम आपको एक एसा उपाए बताने जा रहे है जिससे आप मालामाल तो होंगे ही लेकिन साथ ही में खुशियां भी आएगी। क्या आपको पता है कि घर में गुड लक लाने में मनी प्लांट काफी मदद करता है।

वास्तुशास्त्र के अनुसार, मनी प्लांट को घर के लिए शुभ माना जाता है। इसलिए आपने देखा होगा अधिकतर लोगों के घर में आपको मनी प्लांट तो दीखता ही होगा। दरअसल, यह हमें ऑक्सीजन तो देते ही हैं साथ ही घर की हवा को तो शुद्ध बनाता ही है, साथ ही यह घर में पॉजिटिव एनर्जी भी लाता है। ऐसा माना जाता है कि मनी प्लांट को घर में लगाने से भाग्य खुल जाते है, मनी प्लांट जितना बड़ा होता है उतने ही अपने घर में खुशिया और पेसे आते है। यह पौधा विशेष रूप से घर के अंदर ही लगाया जाता है।

फेंगशुई में माना जाता है कि मनी प्लांट फर्नीचर से हवा में आने वाले कैमिकल तत्वों को शुद्ध हवा में बदल देता है। इससे घर की हवा स्वच्छ बनी रहती है। मनी प्लांट को आप अपने घर के इलेक्ट्रॉनिक साजो-सामान जैसे कि लैपटॉप, टीवी, फ्रीज के पास रखें। ऐसा करने से यह आपके लिए और भी ज्यादा फायदेमंद रहेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper