ऑस्ट्रेलिया में एचआईवी दर 18 वर्ष के न्यूनतम स्तर पर

सिडनी: ऑस्ट्रेलिया में सरकार, स्वास्थ्य क्षेत्र, समुदायों और शोध क्षेत्र के समेकित प्रयासों से एचआईवी की दर 18 वर्ष के न्यूनतम स्तर पर आ गयी है। न्यू साउथ वेल्स यूनिवर्सिटी के किर्बी इंस्टीट्यूट की ओर से बुधवार को जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक 2018 में एचआईवी के महज 835 मामले सामने आये जो पिछले पांच वर्ष की तुलना में 23 प्रतिशत कम है। किर्बी इंस्टीट्यूट के सर्विलांस इवैल्यूण्शन एंड रिसर्च प्राेग्राम की प्रमुख रेबेका गाइ ने कहा कि यह गिरावट काफी उत्साहजनक है। उन्होंने कहा, “हमने पिछले कुछ वर्षों में ऑस्ट्रेलिया के कुछ राज्यों में एचआईवी दर में गिरावट दर्ज की थी लेकिन 2018 में हमें राष्ट्रीय स्तर पर एचआईवी दर में गिरावट दर्ज की गयी।”

सुश्री गाइ ने कहा, “एचआईवी दर में गिरावट इसका प्रसार रोकने के लिए सरकार, स्वास्थ्य क्षेत्र, समुदायों और शोध क्षेत्र के समेकित प्रयासों का नतीजा है। इन साझीदारियों के परिणामस्वरूप अधिक से अधिक लोगों में एचआईवी संक्रमण की जांच की गयी और एचआईवी संक्रमित लोगों का जल्द इलाज शुरू कर दिया गया।”

ऑस्ट्रेलिया के स्वास्थ्य मंत्री ग्रेग हंट ने एक बयान जारी कर एचआईवी दर में गिरावट का स्वागत करते हुए कहा कि यह अतुल्य परिणाम समलैंगिक और उभयलैंगिक पुरुषों के बीच नियमित एचआईवी रोकथाम उपचार के कारण भी आया है जिसके सरकार ने एक अप्रैल 2018 से फार्मास्यूटिकल बेनेफिट्स स्कीम में शामिल किया है। उन्होंने बताया कि ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने इन स्कीम के तहत लोगों को एचआईवी की कई दवाइयां उपलब्ध करायी हैं। सरकार इसके लिए पुरजोर कोशिश कर रही है कि देश में एचआईवी संक्रमण के नये मामले नहीं हों।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper