ओ‎डिशा में पीएम मोदी ने भी हुंकार, कहा- ओडिशा में कमल खिलना तय

सुंदरगढ़: ओ‎डिशा के सुंदरगढ़ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को चुनावी सभा को संबो‎धित ‎किया। इस दौरान पीएम ने सूबे की बीजद सरकार और कांग्रेस पर जोरदार हमला बोला। प्रदेश की नवीन पटनायक सरकार पर हमला बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि ओडिशा में सबकुछ है, संपदा है, संसाधन है लेकिन बीजद की नीति और नीयत ठीक नहीं है। उन्होंने पटनायक सरकार को आड़े हाथों लेते हुए ओडिशा के विकास की राह में रोड़ा अटकाने का आरोप लगाया। मोदी ने कहा कि ओडिशा में कमल खिलना इस बार तय है, यह यहां की जनता ने तय किया है।

कोई 5 साल पहले यह कल्पना भी नहीं कर सकता था कि यहां भाजपा का डंका बजेगा। कांग्रेस पर हमला करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि देश का चौकीदार आतंकी ठिकानों पर स्ट्राइक करता है लेकिन दूसरी ओर कांग्रेस जवानों के विशेष अधिकार छीनने में जुटी है। पीएम ने कहा, ‘मुझे किसी ने बताया कि पहली बार देश का कोई प्रधानमंत्री सुंदरगढ़ आया है। मैंने उन्हें बीच में ही टोक दिया। मैंने कहा कि सुंदरगढ़ में आज भी कोई प्रधानमंत्री नहीं आया है। आज ओडिशा का प्रधानसेवक अपने मालिकों से आशीर्वाद लेने आया है। ओडिशा की जनता को नवरात्र की शुभकामनाएं देते हुए मोदी ने कहा, 2019 का यह चुनाव ओडिशा और देश के भविष्य के लिए बहुत अहम है। आप सभी को राज्य और केंद्र में कैसी सरकार चाहिए, उसका फैसला आपको करना है। आपको फैसला करना है कि ईमानदार सरकार चाहिए या भ्रष्ट और फैसले टालने वाली सरकार चाहिए। हर वर्ग का विकास करने वाली सरकार चाहिए या वंशवाद और भाई-भतीजावाद वाली सरकार चाहिए। पिछले 19 सालों से ओडिशा में बीजेडी की सरकार है। आपके सामने भाजपा सरकार का कामकाज भी है।’ बता दें कि ओडिशा में लोकसभा के साथ-साथ विधानसभा चुनाव भी होने हैं।

पीएम मोदी ने कहा, ‘अटलजी ने कहा था- अंधेरा छटेगा, सूरज निकलेगा, कमल खिलेगा। आज जब मैं ओडिशा की धरती पर आया हूं तो मैं भी देख रहा हूं कि ओडिशा में कमल खिलना अब तय है, यह यहां की जनता ने तय किया है। हमारे सफर में, भाजपा की विचार यात्रा में, विकास यात्रा में दीनदयाल उपाध्याय, कुशाभाऊ ठाकरे, अटल बिहारी वाजपेयी जी, आडवाणी जी, मुरली मनोहर जोशी जैसे अनेक कार्यकर्ताओं के निर्देशन ने पार्टी को बनाया। आज की पीढ़ी भी पूरी ताकत से लगी हुई है। मैं बीजेपी के 11 करोड़ से ज्यादा सदस्यों को पार्टी के स्थापना दिवस पर नमन करता हूं, उनके संकल्प को नमन करता हूं।’

पीएम मोदी ने कांग्रेस पर पिछड़ो और ट्राइबल को महज वोटबैंक के रूप में उपयोग करने का आरोप लगाया। इसके अलावा उन्होंने कांग्रेस पर नक्सलियों के संरक्षण का आरोप लगाया। पीएम मोदी ने कहा, कांग्रेस की नीति लोगों को जाति-पाति के जंजाल में उलझाए रखने की है। इसी वजह से ओडिशा में कांग्रेस साफ हो रही है। आपका चौकीदार आतंकियों, नक्सलियों और माओवादियों के सफाये में जुटा है और कांग्रेस इन्हें संरक्षण देने के काम कर रही है। आपका चौकीदार आतंकियों पर स्ट्राइक करता है और कांग्रेस हमारे जवानों के विशेष अधिकारों को छीनने में जुटी है। भाजपा के स्थापना दिवस पर कार्यकर्ताओं को बधाई देते हुए पीएम मोदी ने कहा, आज ही भाजपा का स्थापना दिवस भी है। 39 साल पहले आज ही के दिन सबसे बड़े राजनीतिक संगठन यानी हम सबके दिलों में बसी भाजपा का गठन हुआ था। बीजेपी इसलिए विशेष है कि यह पार्टी न दलबदल से बनी है न बाहुबल से बनी है और न ही बाहर से उधार ली गई किसी विचारधारा से बनी है। भारत की मिट्टी की सुगंध के साथ उपजी है। भारत की सभ्यता और संस्कृति में रची-बसी है। हम परिवार पर आधारित नहीं हैं, न ही पैसों पर आधारित हैं। कई पार्टियां पैसे से बनी हैं, यह पार्टी कार्यकर्ताओं के पसीने से बनी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper