‘करन-अर्जुन’ फिल्म की शूटिंग हुई थी इस गाँव में – ठाकुर दुर्जन की हवेली अब दिखती है ऐसी!

आप सभी ने करन अर्जुन फिल्म तो ज़रूर देखी होगी है उस समय की यह ब्लॉकबस्टर फिल्म थी। और इस फिल्म में दर्शाए गये गाँव और ठाकुर दुर्जन सिंह की हवेली के बारे में तो सभी को याद होगा। लेकिन अधिकतर ये नही जानते होंगे की इस फिल्म की शूटिंग किस गाँव में हुई थी।

लेकिन आज हम आपको करन-अर्जुन फिल्म में दर्शाए गाँव और हवेली के बारे में बताने जा रहे है आज आप यह भी जानेंगे की अब यह हवेली कैसी दिखती है अगर आप इसके बारे में जानना चाहते है तो चलिए बताते है आपको इसके बारे में।

करन-अर्जुन 1995 में प्रदर्शित एक एक्शन फिल्म है जिसमे सलमान खान, शाहरुख खान, काजोल, ममता कुलकर्णी, अमरीश पुरी आदि ने मुख्य भूमिका निभाई है। यह दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे फिल्म के बाद 1995 में सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म है।

इस फिल्म की शूटिंग जिस गाँव में हुई थी वह राजस्थान का गाँव था और इस फिल्म में राजस्थान की जिस हवेली को अमरीश पुरी अर्थात ठाकुर दुर्जन की हवेली के रूप में दर्शाया गया था राजस्थान के अलवर जिले के भानगढ़ गाँव में स्थित है।

राजस्थान के अलवर जिले में स्थित यह गाँव अपनी खूबसूरती के लिए जाना जाता है। इस गाँव की खूबसूरती से आकर्षित होकर ही इस फिल्म की शूटिंग के लिए यह गाँव चुना गया था जहाँ पर सलमान खान, शाहरुख खान के अलावा पुरी करन-अर्जुन टीम ने समय व्यतीत किया था।

इस फिल्म की ज्यादातर शूटिंग इसी गाँव में की गयी थी और बाकि दूसरी जगहों पर इस फिल्म की शूटिंग की गयी थी। ठाकुर दुर्जन की हवेली के लिए “सरिस्का पैलेस” का चुनाव किया गया था जो राजस्थान के अलवर जिले में स्थित है जिसे वर्तमान में अब खुबसुरत होटल में परिवर्तित कर दिया गया है।

इस होटल का इंटीरियर फ्रंट बहुत ही खुबसुरत है जो फ्रेंच और शाही आर्किटेक्चर की खूबसूरती को दर्शाती है इस होटल में सारी सुविधाएँ मौजूद है इस होटल में आपको स्विमिंग पुल, स्पा आदि सारी सुविधाएँ मिलेंगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper