कर्नाटक में हाथी ने दस्तक दी

धनंजय सिंह

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने कर्नाटक के चुनाव में दस्तक दी है। कर्नाटक में बसपा के उम्मीदवार एन महेश भगत कोलेगल विधानसभा सीट पर जीत हासिल की है, उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी ए.आर.कृष्णामूर्ति को मात दी।

बसपा ने कर्नाटक के विधानसभा चुनाव में देवगौड़ा की पार्टी जनता दल सेक्युलर (जेडी एस)के साथ मिलकर चुनाव लड़ी। जेडी (एस) ने बसपा को समझौते में 20 सीट दी। 224 विधानसभा सीट वाले राज्य में 222 सीटों पर चुनाव हुए।

जेडी (एस) ने कर्नाटक में बसपा को समझौतें में वह सीटें दी, जिन पर पिछले चुनाव में जेडी(एस)को जीत हासिल हुई थी या उसके प्रत्याशी कम अन्तर से हारे थे। इस चुनाव में बसपा को 20 सीटों पर 0.3 प्रतिशत यानि कुल 106940 वोट हासिल हुए हैं। कर्नाटक में 51 सीटें सुरक्षित है और 24 प्रतिशत से अधिक एससी/एसटी की आबादी है।

कर्नाटक में बसपा की एक सीट पर हुई जीत ने दक्षिण भारत में उम्मीद के दरवाजे खुल गये है। उ.प्र. में बसपा सुप्रीमों मायावती चार बार मुख्यमंत्री रही। उप्र में मुख्यमंत्री रहते मायावती ने उत्तर भारत के कई राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में बसपा की उपस्थिति दर्ज करायी थी। बसपा के वोट प्रतिशत के आधार पर चुनाव आयोग ने राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा दिया।

बसपा उत्तर भारत में संगठन को भले ही विस्तार कर ली किन्तु दक्षिण भारत कभी वह उस्तक नही दे पाई न ही वह दक्षिण भारत के किसी राज्य में वह संगठन नही खड़ा कर पायी। इस बार कर्नाटक चुनाव में दलित बाहुल्य इलाकों में जेडी (एस) के साथ मिलकर 20 सीटों पर समझौता किया। बसपा सुप्रीमों कर्नाटक में एक दर्जन से अधिक जनसभाएं भी की। बसपा को एक सीट मिली। जेडी(एस)को 37 सीटें मिली। बसपा और जेडी(एस)ने मिलकर 37 सीटें जीती।

जेडी(एस)गठबंधन कर्नाटक में किंगमेकर की भूमिका में है। 78 सीटों पर जीत दर्ज करने वाली कांग्रेस ने चुनावी रुझान को देखते हुए जेडी (एस) गठबंधन को समर्थन देने का घोषणा कर दिया है। भाजपा 104 सीटों पर जीत दर्ज कर कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। भाजपा को बहुमत के लिए आठ सीटों की जरूरत पड़ेगी। भाजपा और जेडी (एस) ने राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने की पत्र सौंप चुके हैं। अब राज्यपाल के निर्णय पर निर्भर है कि वह किसको सरकार बनाने का न्यौता दे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
loading...
E-Paper