कश्मीर पर पाकिस्तान को एक और झटका-ICJ में पाक वकील ने कहा- कमजोर है केस, नहीं हैं सबूत

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर में धारा 370 के खिलाफ दुनियाभर में प्रोपेगंडा कर रहे पाकिस्तान की हर किरकिरी ही हुई है। हाल ही में पाकिस्तान ने कहा था कि वह इस मसले को अंतरराष्ट्रीय कोर्ट (आईसीजे) में ले जाएगा, लेकिन अब इस मोर्चे पर भी उसे मुंह की खानी पड़ रही है। अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में पाकिस्तान के वकील खावर कुरैशी ने खुद कहा है कि हमारे पास पर्याप्त सबूत नहीं हैं। कुरैशी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में अगर नरसंहार हो रहा है तो अभी उसके सबूत इकट्ठा करना काफी मुश्किल है और अगर सबूत नहीं होंगे तो पाकिस्तान के लिए जम्मू-कश्मीर के मसले को अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में पेश करना काफी मुश्किल होगा।

गौरतलब है कि बीते दिनों जब पाकिस्तान ने इस मसले को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में उठाने की कोशिश की थी, तो उसे वहां पर मुंह की खानी पड़ी थी। इसी के बाद ही पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने इस बात का ऐलान किया था कि पाकिस्तान इस मसले को अंतरराष्ट्रीय कोर्ट ले जाएगा। इससे पहले कुलभूषण जाधव मामले में भी पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में हार का सामना करना पड़ा था।

कुलभूषण मामले में ICJ ने भारत के पक्ष में फैसला सुनाया था और कुलभूषण की फांसी की सजा पर रोक लगा दी थी। इतना ही नहीं, अंतरराष्ट्रीय कोर्ट के दखल के बाद ही कुलभूषण को कॉन्सुलर एक्सेस मिला था। आपको बता दें कि पाकिस्तान अनुच्छेद 370 के मसले पर बौखलाया हुआ है और लगातार इसे भारत के द्वारा किया गया संयुक्त राष्ट्र के नियमों का उल्लंघन बता रहा है। हालांकि, इस मसले पर भारत को दुनिया के कई बड़े देशों का साथ मिला है और इस मसले को भारत का आंतरिक मामला बताया है।

इससे पहले पाकिस्तान की तरफ से मानवाधिकार उल्लंघन के मसले को लेकर संयुक्त राष्ट्र को चिट्ठी लिखी गई थी, जिसमें भारत के कई नेताओं के बयान, अंतरराष्ट्रीय मीडिया की रिपोर्ट्स को आधार बनाकर एक्शन लेने की मांग की गई थी। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने लगातार भारत के खिलाफ बयान दिए हैं और इस मसले पर वह पाकिस्तानी जनता से प्रदर्शन की अपील भी कर रहे हैं। इमरान की तरफ से हर शुक्रवार दोपहर 12 से 12.30 बजे के बीच लोगों से अपील की गई है कि वह आधे घंटे तक कश्मीरी लोगों के समर्थन में खड़े रहें, लेकिन पाकिस्तानी जनता की तरफ से ही इसका विरोध किया गया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper