कांग्रेस ने शिवराज को सौंपी कर्ज माफी वाले 21 लाख किसानों की सूची

भोपाल: मध्य प्रदेश में किसानों की कर्ज माफी को लेकर चल रही बयानबाजी के बीच कांग्रेस ने मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आवास पर पहुंचकर उन 21 लाख किसानों की सूची सौंपी, जिनका कर्ज माफ करने का सरकार दावा कर रही है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी के नेतृत्व में बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता खुली जीपों में किसानों की सूचियां भरकर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान के आवास पर पहुंचे और उन्हें 21 लाख किसानों की सूचियां सौंपी। यह सूची जिला वार है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री पचौरी ने यहां कहा, “राज्य में कांग्रेस सरकार ने अपने वचन पत्र में किसानों का दो लाख तक का कर्ज माफ करने का वादा किया था, कांग्रेस की कमलनाथ के नेतृत्व में सरकार बनते ही कर्ज माफी की प्रक्रिया शुरू हो गई। अब तक 21 लाख किसानों का कर्ज माफ किया जा चुका है। इन किसानों की सूची और पेन ड्राइव में ब्योरा पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज को सौंपा है।”

दिग्विजय की जीत के लिए कंप्यूटर बाबा की अगुवाई में सैकड़ों साधु-संतों का विशेष पूजन

कांग्रेस का दावा है कि ‘जय जवान जय किसान ऋण माफी’ योजना के तहत कुल 55 लाख किसानों का दो लाख तक का कर्ज माफ होना है। आचार संहिता लगने के पूर्व करीब 21 लाख किसानों के कर्ज माफ हो चुके हैं, उन्हें कर्ज माफी के प्रमाण पत्र भी दिए जा चुके हैं। आचार संहिता के बाद शेष बचे किसानों के भी अपने वचन पत्र के वादे के मुताबिक, कांग्रेस सरकार कर्ज माफ करेगी। कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा जो खुद को किसान हितैषी बताती है, निरंतर कर्ज माफी पर झूठ परोस कर किसानों को भ्रमित व गुमराह करने में लगी हुई है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper