कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने जारी की मोदी सरकार नाकमयावी की लिस्ट

दिल्ली ब्यूरो: रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने जैसे ही पीएम मोदी को दोबारा सत्ता में लाने की बात कही ,कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी भड़क गई। चतुर्वेदी ने ट्वीट करके मोदी सरकार के पिछले पांच साल के कार्यकाल पर निशाना साधा है। उन्होंने बेरोजगारी से लेकर, आतंकवाद, एनपीए में बढ़ोतरी सहित तमाम मुद्दों पर मोदी सरकार को घेरा है।अपने ट्वीट में प्रियंका चतुर्वेदी ने लिखा कि इस तथाकथित पूर्ण बहुमत की मजबूत सरकार है, जिसमे बेरोजगारी पिछले 45 वर्षों के शिखर पर है, आतंकवाद में 260 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

मध्यप्रदेश और उत्तराखंड में भी सपा-बसपा गठबंधन लड़ेगा चुनाव

यही नहीं 1.1 करोड़ लोगों का एक साल के भीतर रोजगार चला गया है। प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में हर तरफ लोगों को मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है, एनपीए में बढ़ोतरी हुई है, निर्यात में कमी हुई है, निजी निवेश में भी गिरावट दर्ज की गई है, इस दौरान जबरदस्त भ्रष्टाचार है।

बता दें कि निर्मला सीतारमण ने कहा था कि अगर एक बार फिर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सत्ता में नहीं आते हैं तो भारत को 50 साल पीछे चला जाएगा। बेंगलुरू में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रक्षामंत्री ने कहा कि अगर भाजपा को सत्ता से बाहर किया गया और मजबूत बहुमत की सरकार को हार मिली तो हमे 50 वर्ष का झटका लगेगा। अगर भारतीय जनता पार्टी को फिर से सत्ता में नहीं लाया जाता है तो यह देश में पहली बार मतदान करने वाले मतदाताओं के खिलाफ होगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper