काजल खरीदने से पहले इन बातों का रखें खास ध्यान

काजल आंखों की खूबसूरती को और बढ़ा देता है। मार्केट में अब न सिर्फ काले बल्कि अलग-अलग रंग के काजल भी मिलने लगे हैं। काजल को सिर्फ मेकअप के साथ ही नहीं बल्कि यूं ही आंखों में लगा लें तो चेहरे का लुक बिल्कुल बदल जाता है। बाजार में यूं तो इसके कई ब्रैंड्स और टाइप हैं लेकिन इसका सही चुनाव कैसे करना है इस बारे में कुछ चीजों का ध्यान रखना जरूरी है।

सस्ते के पीछे न भागें
काजल आंखों के सबसे नजदीक होता है। ऐसे में सस्ते के पीछे न भागें। बेहतर होगा कि आप अच्छे ब्रैंड के ही काजल खरीदें। सस्ते के चक्कर में आप अपनी आंख को गंभीर नुकसान पहुंचा सकते हैं।

काजल पेंसिल ध्यान से चुनें
काजल पेंसिल दो तरह की होती हैं पतली और मोटी। इनकी नोंक भी इसी के अनुसार होती है। आप पर कौन सा टाइप सूट करेगा इसके लिए पहले खुद पर दोनों काजल ट्राइ कर लें। मोटी पेंसिल वाले काजल को लगाना आसान होता है, लेकिन इसके फैलने के भी चांस रहते हैं। वहीं पतली पेंसिल के काजल को लगाना थोड़ा टाइम टेकिंग है।

लिक्विड काजल को पहले कर लें टेस्ट
मार्केट में लिक्विड काजल के ऑप्शन भी उपलब्ध हैं। इसे लेने से पहले ब्रश, उसकी क्वालिटी, काजल कितना थिक है और कितना पतला जैसी चीजें ध्यान से जांच लें। बेस्ट होगा कि आप शॉप पर काजल के टेस्टर को पहले ट्राइ कर लें जिससे आपको सही चुनाव करने में आसानी होगी।

ऐसे काजल को न करें इस्तेमाल
काजल लगाने के बाद अगर आपको आंख में किसी भी तरह की खुजली, जलन या ड्राइनेस होती है तो उसे तुरंत साफ कर पानी से धोएं। यदि परेशानी बनी रहे तो डॉक्टर के पास जाएं। ऐसे काजल का इस्तेमाल आप तुरंत रोक दें।

एक्सपायर डेट देखें
काजल रोज लगाने पर भी लंबे समय तक चलता है। ऐसे में उसकी एक्सपायर डेट देखना जरूरी हो जाता है। एक्सपायर डेट के बाद भी अगर आप काजल का इस्तेमाल जारी रखते हैं तो आपको इंफेक्शन हो सकता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper