कुंभ मेले की कर रहे हैं तैयारी तो जानें कब-कब हैं शाही स्नान

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में 15 जनवरी से आयोजित होने जा रहे कुंभ मेला अपने आप में कई मायनों में खास है। इसके लिए प्रयागराज में महीनों से तैयारियां की जा रही है। देश दुनिया भर से करोड़ों श्रद्धालुओं के जुटने की उम्मीदें हैं। हालांकि कुंभ को देखने समझने के लिए आपको एक बार नहीं बल्कि कई बार आना पड़ेगा तब जाकर इसकी आध्यात्मिक महत्ता समझ आ सकती है। 

प्रयागराज के संगम पर त्रिवेणी घाट पर आय़ोजित होने जा रहे विशाल कुंभ मेले को लेकर लोगों में खूब उत्साह है। प्रयागराज में ‘कुम्भ’ कानों में पड़ते ही गंगा, यमुना एवं सरस्वती का पावन सुरम्य त्रिवेणी संगम मानसिक पटल पर चमक उठता है। यहां पवित्र संगम में डुबकी लगाने के लिए देश-दुनिया से आते हैं और आध्यात्मिक शहर में डुबकी लगाकर पापों से मुक्ति पाते हैं।  

इस वर्ष मकर संक्रांति पौष माह के शुक्ल पक्ष की नवमी को पड़ेगी। 14 को रात्रि में तथा 15 जनवरी को उदय तिथि पड़ने के कारण मकर संक्रांति 15 को ही मनाई जानी चाहिए। मकर संक्रांति का पुण्य काल 15 जनवरी प्रातःकाल से सूर्यास्त तक रहेगी। पूरे दिन पर्व का शुभ मुहूर्त है। इसी दिन प्रथम शाही स्नान रहेगा।

कुंभ मेले में आने से पहले आपको इन कुछ बातों को जानना बहुत जरूरी है। जानें शाही स्नान कब-कब है-

  1. 14-15 जनवरी 2019: मकर संक्रांति (पहला शाही स्नान)
  2. 21 जनवरी 2019: पौष पूर्णिमा
  3. 31 जनवरी 2019: पौष एकादशी स्नान
  4. 04 फरवरी 2019: मौनी अमावस्या (मुख्य शाही स्नान, दूसरा शाही स्नान)
  5. 10 फरवरी 2019: बसंत पंचमी (तीसरा शाही स्नान)
  6. 16 फरवरी 2019: माघी एकादशी 
  7. 1 9 फरवरी 2019: माघी पूर्णिमा
  8. 04 मार्च 2019: महा शिवरात्री
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper