कुम्भ: संगम में नाव डगमगाई, सभी श्रद्धालु सुरक्षित

प्रयागराज ब्यूरो। संगम क्षेत्र में शनिवार की सुबह एक नाव में 12 श्रद्धालु सवार होकर स्नान के लिए जा रहे थे कि नाव अनियंत्रित होने लगी। इस बीच वहां मौजूद एनडीआरफ, जल पुलिस तथा गोताखोरों की मदद से सभी स्नानार्थियों को तत्काल सुरक्षित बचा लिया गया है।

अपर पुलिस अधीक्षक (अस्थापना) कुम्भ मेला नीरज पाण्डेय ने बताया कि शनिवार सुबह एक नाव में 12 यात्री सवार होकर स्नानार्थी संगम स्नान करने के लिए जा रहे थे कि अचानक नाव डगमगाने लगी। यह देखते ही घाट पर तैनात जल पुलिस एवं एनडीआरएफ के जवानों ने तत्काल सक्रिय होकर नाव में बैठे सभी श्रद्धालुओं को बचाने के लिए आगे बढ़े और सभी को सुरक्षित बचा लिया गया है। सभी यात्रियों को प्राथमिक उपचार के लिए कुम्भ क्षेत्र स्थित केन्द्रीय अस्पताल भेजा गया है।

बताया कि नाव डूबने की खबर गलत है। नाव डगमगा गई थी। उसमें सवार सभी श्रद्धालुओं को सुरक्षित बचा लिया गया। मां गंगा ऐसी पावन अवसर पर गंगा में डूबने नहीं देंगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper