केरल में भारी बारिश से बाढ़, मृतकों की संख्या 95 हुई

तिरुवनंतपुरम: केरल मे भारी बारिश, बाढ़ और भूस्खलन से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 95 हो गई है तथा 59 लोग अभी भी लापता हैं। आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को बताया कि विभिन्न जिलों में 58,107 परिवारों के करीब 1,89,567 लोगों को 1,118 राहत शिविरों में शरण दी गई है। इनमें से बहुत से लोग अपने इलाकों में बाढ़ के जल स्तर में कमी आने के बाद अपने घर लौट गये हैं।

उन्होंने बताया कि अलप्पुझा जिले में चार, कोट्टायम और कासरगोड जिलों में दो-दो, इडुक्की में पांच, त्रिशूर में आठ, मलप्पुरम में 35, कोझिकोड में 17, वायनाड में 12, पलक्कड़ में एक और कन्नूर जिले में नौ लोगों की मौत हुई है। इसके अलावा मलप्पुरम से 51 और वायनाड से सात और कोट्टायम से एक लोग अभी तक लापता हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper