कॉफी पीने वाले ऑलवेज हेल्दी

लखनऊ: एक रिसर्च कहता है कि ज्यादा कॉफी पीने वाले भी उन लोगों के मुकाबले लंबा जीवन जीते हैं, जो बिल्कुल कॉफी नहीं पीते। जो लोग कॉफी नहीं पीते या कम पीते हैं वह ज्यादा कॉफी पीने वालों के मुकाबले जल्दी मर जाते हैं। यह रिसर्च बड़े पैमाने पर किया गया है।

इससे पता चला है कि भले ही किसी भी तरह की कॉफी पी जाए, लेकिन जो लोग ज्यादा कॉफी पीते हैं वह लंबे समय तक जीवित और स्वस्थ रहते हैं। रिसर्च से पता चला है कि कॉफी न पीने वालों की तुलना में ज्यादा कॉफी पीने वाले 10 साल ज्यादा जीते हैं।

इस बात से फर्क नहीं पड़ता की वे कितनी कॉफी पीते हैं या कौन सी कॉफी किस तरह बना कर पीते हैं। बस अहम यह है कि कॉफी पीते हैं। इससे उनकी उम्र पर प्रभाव पड़ रहा है और ज्यादा जी रहे हैं। एक दिन में एक से आठ कप कॉफी पीने वालों की उम्र भी कॉफी न पीने वालों से ज्यादा रही।

नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट की एक टीम द्वारा किए गए इस शोध से पता चला है कि पिछले 10 सालों में मरने वाले 14,000 लोगों में सबसे ज्यादा वे थे, जो कॉफी नहीं पीते थे। जिन प्रतिभागियों ने एक से तीन कप कॉफी पी वे ज्यादातर बड़ी उम्र के थे और उनका स्वास्थ भी अच्छा देखा गया। रिसर्च के बाद कहा गया है कि कॉफी से शरीर के कुछ हिस्सों में इंफ्लेमेशन कम हो जाता है। कॉफी शरीर में लीवर की मदद करती है और खून की कोशिकाओं को स्वस्थ रखती है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper