कोरोना का असर : यूपी में अब तक 4.35 लाख लोग होम क्वारंटाइन

लखनऊ : कोरोना के बढ़ते कहर के बीच यूपी में अब तक 435689 लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया है। इसके साथ ही प्रदेशभर में 1,09,080 लोगों को आश्रय स्थलों में रखा गया है। यह जानकारी अपर मुख्य सचिव राजस्व रेणुका कुमार ने दी है। उन्होंने बताया कि कोविड-19 को ध्यान में राजस्व विभाग के अधीन बनाए गए फंड में लोगों के मदद करने का सिलसिला शुरू हो गया है।

रेणुका कुमार ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र में अब तक कुल 4,00,765 लोग होम क्वारंटाइन और शहरों में 34,933 लोग को होम क्वारंटाइन किए गए हैं। राजस्व विभाग द्वारा बनवाए गए 3791 आश्रय स्थलों में 1,05,289 लोग रह रहे हैं। आनलाइन ई-पास के लिए अब तक कुल 28,566 आवेदन प्राप्त हुए है, इसमें से 4498 ई-पास जारी किए जा चुके हैं, 12,523 आवेदन प्रक्रियाधीन हैं। कुल 11,545 आवेदन निरस्त किए गए हैं।

44 नए मरीज : उत्तर प्रदेश में रविवार को वाराणसी के बीएचयू अस्पताल में 55 वर्षीय एक व्यक्ति की मौत हो गई। यह प्रदेश में तीसरी मौत है। इससे पहले बस्ती और मेरठ में भी 1-1 मरीज की जान जा चुकी है। रविवार को कोरोना वायरस से संक्रमित 44 और नए मरीज मिले। इसमें अकेले तबलीगी जमात के 37 लोग शामिल हैं। अभी तक कुल 283 लोगों में कोरोना वायरस पाया जा चुका है और इसमें तब्लीगी जमात से लौटे 138 लोग शामिल हैं।

सबसे ज्यादा नोएडा में : अब तक कोरोना के जो 283 मरीज पाए गए हैं उनमें सर्वाधिक 58 नोएडा के हैं। आगरा के 47, मेरठ के 33, लखनऊ के 10, गाजियाबाद के 23, लखीमपुर खीरी के चार ,कानपुर के सात, पीलीभीत के दो, मुरादाबाद का एक, वाराणसी के सात, शामली के 14, सहारनपुर के 15, जौनपुर के तीन, बागपत के दो, बरेली के छह, बुलंदशहर के तीन, बस्ती के पांच, हापुड़ के तीन, गाजीपुर के पांच, आजमगढ़ के तीन, फिरोजाबाद के चार, हरदोई का एक, प्रतापगढ़ के तीन, शाहजहांपुर का एक, बांदा के दो, महाराजगंज के छह, हाथरस के चार, मिर्जापुर के दो, रायबरेली के दो और औरैया व बाराबंकी का 1-1 मरीज शामिल है। लखनऊ में तीन असम व दो जयपुर के मरीज भी हैं। इन्हें लखनऊ की मस्जिदों से पकड़ा गया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper