कोरोना वायरस की वजह से कश्मीर में पहली मौत, देश में मरीजों की संख्या पहुंची 629

श्रीनगर: कोरोना वायरस ने देशभर में तबाही मचा कर रखी हुई है। देश को 21 दिनों के लिए लॉकडाउन कर दिया गया है लेकिन इसके बावजूद कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहा है। इसी बीच केंद्र शासित प्रदेश जम्मू एवं कश्मीर में कोविड-19 के कारण गुरूवार को पहली मौत की खबर की पुष्टि हुई। उत्तम हिन्दू को मिली जानकारी के मुताबिक श्रीनगर के हैदरपोरा में 65 वर्षीय बुजुर्ग की कोरोना वायरस से मौत हो गई है। उनके संपर्क में आए चार लोगों कि रिपोर्ट भी बुधवार को पॉजिटिव आई थी। जम्मू-कश्मीर के प्रधान सचिव (योजना आयोग) रोहित कंसल ने यह जानकारी दी।

वहीं राजस्थान से भी बुधवार को कोरोना के 6 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं जिसने राज्य सरकार की नींद उड़ा दी है। दरअसल 21 मार्च तक राज्य में केवल 21 मामले थे जो अब बढ़कर 38 हो गए हैं। यानी पिछले 5 दिनों में 17 नए मामले सामने आए हैं।

बता दें कि भारत में अबतक 629 मामले सामने आ चुके हैं। भारत में सबसे ज्यादा केस केरल में दर्ज किए गए। शहर की बात करें तो केरल के कासरगोड में फिलहाल सबसे ज्यादा लोग कोरोनावायरस से संक्रमित हैं।

हेल्थ मिनिस्ट्री की वेबसाइट के मुताबिक, देश के 25 राज्यों में कोरोना फैल चुका है। केरल में कोरोनावायरस के 101 मामलों की पुष्टि हुई है, जिनमें से चार मरीज ठीक हो चुके हैं। इसके बाद महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 98 मामले सामने आए हैं। यहां कोई भी मरीज ठीक नहीं हुआ है जबकि दो की मौत हो चुकी है।

कोरोनावायरस संक्रमण और इससे हुई मौतों को ट्रैक करने वाली वेबसाइट Worldometer के मुताबिक इटली में सबसे तेजी से मौतें हुई हैं। दुनिया में सबसे ज्यादा तेजी से मौतें इटली में देखने को मिली। यहां शुरुआती दिनों में मौतों का आंकड़ा 683 था लेकिन पिछले चार-पांच दिनों में यही बढ़ कर 7503 पहुंच चुका है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper