कोरोना से लड़ाई : अब एनसीसी कैडेट भी करेंगे सरकार का सहयोग

लखनऊ : कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई को और मज़बूत करने के लिए एनसीसी कैडेट भी आगे आये हैं। ये कैडेट लॉकडाउन में जरुरी सेवाएं मुहैया कराएँगे। मंत्रालय ने 18 साल से अधिक उम्र के सीनियर कैडेटों को स्वयं सेवक के रूप में तैनात करने की अनुमति दे दी है। वही एनसीसी ने भी राज्य और जिला स्तर पर अपने नोडल अधिकारी तय कर दिए हैं।

रक्षा मंत्रालय की अनुमति के बाद यूपी एनसीसी ने शासन से संपर्क कर सहयोग का प्रस्ताव दिया है। रक्षा मंत्रालय के यूपी में करीब 1.25 लाख कैडेट हैं। जिनमे 70 हजार से अधिक सीनियर कैडेट हैं। मंत्रालय ने इन कैडेटों से हेल्पलाइन और कॉल सेंटर का काम लेने, राहत सामग्री, दवा की आपूर्ति, खाना व जरुरी सामान पहुँचाने के साथ खाना पकवाने और उनकी पैकिंग में सहयोग के निर्देश दिए हैं। रक्षा मंत्रालय की जनसंपर्क अधिकारी गार्गी मलिक सिन्हा ने बताया कि कैडेटों से डाटा फीडिंग, यातायात व् भीड़ प्रबंधन और उनके लिए योग्य कार्य करवाने के लिए सहयोग करने के निर्देश दिए हैं।

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि एक मार्च के बाद यूपी आने वाले सभी विदेशी यात्रियों के होम क्वारंटाइन का कड़ाई से पालन कराया जाए। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने एक एप भी डवलप किया है। ऐसे लोग मोबाइल एप पर अपनी रिपोर्ट प्रतिदिन अपलोड करेंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper