कोलकाता में मार्च निकाल रहे बीजेपी कार्यकर्ताओं पर आंसू गैस के गोले छोड़े गए

नई दिल्ली: चुनाव प्रचार से लेकर चुनाव नतीजों के बाद पश्चिम बंगाल की राजनीति चर्चा के केंद्र में है। चुनावी नतीजों के बाद उत्तर 24 परगना के संदेशखाली इलाके में बीजेपी के तीन कार्यकर्ताओं की हत्या हुई इसके साथ ही टीएमसी के भी एक कार्यकर्ता के मारे जाने की खबर आई है। अपने कार्यक्रताओं की हत्या पर बीजेपी का कहना है कि ममता बनर्जी की शह पर ये सब हो रहा है।

संदेशखली हत्याकांड के विरोध में बीजेपी कार्यकर्ता हजारों की संख्या में कोलकाता की सड़क पर उतरे और ममता सरकार की नीतियों का विरोध करे रहे हैं। बीजेपी कार्यकर्ताओं ने सुबोधकांच चौक से यात्रा की शुरुआत की जो पश्चिम बंगाल के पुलिस मुख्यालय लालबाजार समाप्त होगी। ऐहतियात के तौर पर पुलिस ने धारा 144 लागू किया है। मार्च कर रहे कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने वाटर कैनन और आंसू गैस के गोले छोड़े।

कोलकाता की सड़कों पर माहौल तनावपूर्ण है। ममता सरकार ने साफ कर दिया है कि किसी भी शख्स को कानून हाथ में लेने की इजाजत नहीं दी जाएगी। उन्होंने कहा कि बीजेपी बाहर के लोगों को बुलाकर राज्य का माहौल खराब कर रही है। लेकिन किसी को कानून को हाथ में लेने की इजाजत नहीं दी जा सकती है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper