खटिया पर सोने के फायदे जानकर आप भी कहेंगे कि हमारे पूर्वज किसी वैज्ञानिक से कम नहीं

लखनऊ: क्या आपने कभी सोचा है की हमारे पूर्वजों ने खटिया ही क्यों बनाई सोने के लिए वो लकड़ी के तख्तों से बेड या खटिया भी बना सकते थे। जैसे की तख्तो के दरवाजे सबके यहां होते थे। तो आज हम आपको बताएगें खटिया पर सोने के फायदों के बारे में।

क्यों सोते थे खटिया पर

पहले सब लोग खटिया पर सोते थे, क्योकि पहले लोग काफी मेहनत करते थे और मेहनत के बाद अच्छी नींद बहुत जरूरी होती है। जो बेड में नहीं आ सकती क्योकि आपने महसूस किया होगा की कभी कभी आप रात-रात भर करवटें बदलते रहते हैं और आपको नींद नहीं आती। जिससे आपको बेचैनी, कमर दर्द, अनिद्रा की शिकायत हो जाती है। लेकिन खटिया पर सोने से ऐसा कुछ नहीं होता।

खटिया पर सोने के फायदे

खटिया पर सोने से आपका शरीर शेप में रहता है। जिससे आपको सोने में कोई तकलीफ नहीं होती और आपको अच्छी नींद आती है।
आपने देखा होगा की खटिया पर जाली नुमा ढेर सारे छेद बने होते हैं, ऐसा आपने आरामदायक कुर्सी और पुराने पालने में भी देखा होगा। ये हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता है। जिससे हमारे शरीर का रक्त संचार ठीक होता है।
जब हम सोते हैं तब माथा और पांव के मुकाबले पेट को अधिक खून की जरूरत होती है। क्योंकि रात हो या दोपहर लोग अक्सर खाने के बाद ही सोते हैं। उस समय पेट को पाचन क्रिया के लिए अधिक खून की जरूरत होती है। जो हमें खटिया पर सोने से मिलता है। बेड या तखत में सोने नहीं मिलता। इसलिए खटिया पर सोने की वजह से हमारा पाचन सही रहता है और हमें पेट सम्बन्धी कोई भी परेशानी नहीं होती।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
loading...
E-Paper