खराब मौसम के चलते राजनाथ नहीं कर सके बाबा बर्फानी के दर्शन

जम्मू: जम्मू-कश्मीर के दो दिवसीय दौरे पर आए गृहमंत्री राजनाथ सिंह गुरुवार को खराब मौसम के चलते बाबा अमरनाथ की पवित्र गुफा के दर्शन नहीं कर पाए। अपने दो दिवसीय दौरे को समाप्त करने से पहले गृहमंत्री राज्य की विभिन्न विकास परियोजनाओं, सुरक्षा व कानून-व्यवस्था की समीक्षा करेंगे।

राज्य में सुरक्षा स्थिति की समीक्षा के लिए केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल के साथ बुधवार को राज्य के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे हैं। राज्य में राज्यपाल शासन लागू होने के बाद केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह का यह पहला दौरा है। इस अवसर पर सलजीत डोभल, केन्द्रीय गृह सचिव राजीव गोबा, संयुक्त सचिव जम्मू व कश्मीर ज्ञानेश कुमार तथा एमएचए के अन्य अधिकारी गृहमंत्री के साथ उपस्थित हैं। बुधवार सायं श्रीनगर पहुंचे गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने राज्यपाल से मुलाकात कर सुरक्षा हालात व अमरनाथ यात्रा का जायजा लिया था।

इस दौरान गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने राज्य की आंतरिक और बाहरी सुरक्षा के साथ साथ राज्यपाल शासन लागू होने के बाद राज्य में पैदा हालात, स्थानीय युवाओं को सकारात्मक कार्यों में प्रोत्साहित करने और विकास योजनाओं से जुड़े कई मुददों पर चर्चा की थी। इसके बाद गृहमंत्री ने अजीत डोभाल के साथ हरि निवास में राज्यपाल के सलाहकार बीबी व्यास, के विजय कुमार, खुर्शीद अहमद गनई, मंडलायुक्त कश्मीर, राज्य पुलिस महानिदेशक डॉ एसपी वैद, महानिदेशक सीआरपीएफ जम्मू-कश्मीर, गृह सचिव के साथ एक बैठक कर सुरक्षा-व्यवस्था से जुड़े मुद्दों पर विचार-विमर्श किया था।

राजनाथ सिंह इस दौरान पुलिस वाहिनियों के गठन की मौजूदा स्थिति की समीक्षा के साथ-साथ घाटी में चल रहे आतंकरोधी अभियानों की रणनीति की समीक्षा व बंकरों के निर्माण कार्यो का भी जायजा लेंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper