गंगा यात्रा के मायने

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या के बाद अब गंगा यात्रा और गंगा आरती के जरिए भगवा सियासत को नई धार देने में जुटे हैं। इसी क्रम में सीएम योगी ने पर्यावरण और गंगा के प्रति जागरूकता लाने के लिए 27 से 31 जनवरी तक पांच दिवसीय गंगा यात्रा की। यात्रा की शुरुआत बिजनौर में खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने की। यात्रा ने पश्चिमी यूपी से गंगा किनारे के 27 जिलों से गुजरते हुए 1388 किमी. की दूरी तय की।

पहली यात्रा बिजनौर से कानपुर और दूसरी यात्रा बलिया से कानपुर तक निकली। दोनों तरफ से यात्राओं ने सड़क मार्ग से 1238 और नाव से 150 किलोमीटर की दूरी तय की। हालांकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इस यात्रा का मकसद गंगा को स्वच्छ व निर्मल बनाने के लिए लोगों को जागरूक करना है। लेकिन सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने तंज कसते हुए कहा कि गंगा यात्रा तब निकाली जाती है, जब गंगा साफ होती है।

दरअसल, गंगा यात्रा के बहाने भाजपा की नजर वर्ष 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव पर है। गंगा यात्रा में प्रदेश सरकार के 56 और केंद्र सरकार के 8 मंत्री शामिल हुए और यात्राएं प्रदेश के 87 विधानसभा क्षेत्रों, 26 लोकसभा क्षेत्रों व 27 जिलों से गुजरी। बिजनौर से शुरू होने वाली गंगा यात्रा का समापन 31 जनवरी को बलिया जिले में हुआ। बलिया में साधु-संत, कलाकार, पर्यावरण प्रेमी समेत लाखों लोग गंगा यात्रा में शामिल हुए।

न्यूज डेस्क

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper