गाजीपुर में दलित युवती की हत्या, दुष्कर्म का शक

गाजीपुर: उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जनपद के बहरियाबाद थाना क्षेत्र के बघांव गांव में शनिवार सुबह खेत में कल से लापता एक दलित युवती का अर्धनग्न शव मिला है। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस लोगों के आक्रोश के कारण खबर लिखे जाने तक शव को कब्जे में नहीं ले सकी।

जानकारी के मुताबिक बहरियाबाद थाना क्षेत्र के बघांव गांव निवासी दीपचंद राम की 17 वर्षीय बेटी शुक्रवार सुबह शौच के लिए घर से निकली थी। लेकिन वापस नहीं लौटी, परिजनों ने दिन भर उसे तलाशा, जिसका हत्या किया अर्धनग्न शव शनिवार सुबह गांव के ही एक गेहूं के खेत में मिला। मौके पर ग्रामीण एकत्र हो गए और सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस को शव सौंपने से इंकार कर दिया।

ग्रामीणों ने आशंका जताई है कि किशोरी युवती के साथ कहीं अन्यत्र दुष्कर्म किया गया। उसके बाद गर्दन तथा पेट में चाकू का प्रहार कर उसे मौत की नींद सुला दिया गया। फिर शव को गांव में गेहूं के खेत में फेंक दिया गया। ग्रामीण खोजी कुत्ता बुलाने और उसके जरिए हत्यारों की पहचान कराने की मांग कर रहे थे।

मामले की सूचना मिलने पर सीओ सैदपुर मुन्नी लाल गौड़ मय फोर्स मौके पर पहुंचे। एसओ ने बताया कि यह हत्या का मामला है। दुष्कर्म हुआ है या नहीं इसकी पुष्टि पोस्टमार्टम के बाद होगी। उन्होंने कहा कि किशोरी के घरवाले फिलहाल कुछ बताने की स्थिति में नहीं है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper