गुफा में फंसी युवा फुटबॉल टीम का पता चला, 12 बच्चे 1 कोच जीवित

माई साई: उत्तरी थाइलैंड की एक गुफा में तेज बारिश से उत्पन्न आपदा से घिर गई युवा फुटबॉल टीम का पता चल गया है। टीम की लोकेशन सोमवार को पता लगा ली गई और 12 बच्चे और उनके फुटबॉल कोच को जिंदा पाया गया। लेकिन अभी ऑपरेशन पूरा नहीं हुआ है। दरअसल, बढ़ता पानी का स्तर और कीचड़ की वजह से बच्चों को बाहर लाना संभव नहीं है। गोताखोरों का कहना है कि अभी इन बच्चों को गुफा से बाहर निकालने में लगभग एक महीने का समय लग सकता है। इन बच्चों की उम्र 11 से 16 साल के बीच है और साथ में एक कोच है जो 25 साल का है।

एक ऑस्ट्रेलियाई गोताखोर पीटर वोल्फ ने बताया कि इन 12 बच्चों और उनके कोच को बचाने में लगभग एक महीने का समय लग जाएगा। इसकी वजह यह है कि इन बच्चों को तैरना नहीं आता। गवर्नर ओसोतानाकोर्न ने कहा कि मिशन अभी पूरा नहीं हुआ है। हम गुफा के अंदर मेडिकल टीम भेजेंगे ताकि बच्चों की सेहत सुधर सके। इतना ही नहीं जल्द से जल्द गुफा में भरा पानी निकालने की कोशिश की जाएगी, जिसके बाद बच्चों को बाहर लाया जा सकेगा। जानकारी के मुताबिक, गोताखोर इन बच्चों को तैराकी भी सिखा सकते हैं ताकि इन्हें पानी के बीच से बाहर लाया जा सके।

थाइ नेवी सील के फेसबुक पेज पर शेयर किए गए विडियो में ये बच्चे दिख रहे हैं। इन बच्चों को दो ब्रिटिश गोताखोरों ने ढूंढा है। टॉर्चलाइट दिखते ही मदद की आस में बैठे इन बच्चों ने गोताखोरों से कहा कि हम भूखे हैं, क्या हम बाहर जा सकते हैं? गोताखोरों ने जब बच्चों से पूछा कि वे कितने लोग साथ में हैं तो जवाब मिला 13, जिससे यह साफ हो गया कि गुफा में फंसने वाले सभी बच्चे और कोच सुरक्षित हैं। हालांकि, ये सब बेहद कमजोर हो गए हैं। ये बच्चे गुफा के अंदर एक ऊंची जगह पर हैं, जिसके चारों तरफ पानी है। बचावकर्ता प्रति घंटे 16 लाख लीटर पानी गुफा से बाहर निकाल रहे हैं।

बच्चों को भेजा जाएगा 4 महीने का खाना

रॉयल थाइ नेवी के कैप्टन अकानंद सुरावान के अनुसार इन 12 बच्चों और उनके कोच को सुरक्षित रखने के लिए गुफा में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ाई जाएगी ताकि उनका सांस लेना आसान हो। इतना ही नहीं, बच्चों के लिए 4 महीने का खाना भिजवाया जाएगा और उन्हें तैरना सिखाया जाएगा। 23 जून से लापता बच्चों को खोजने के लिए 25 जून से बचाव कार्य शुरू किया गया था। बच्चों को खोजने के लिए चीन, म्यांमार, लाओस और ऑस्ट्रेलिया की करीब 1000 लोगों की टीम लगी हुई थी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper