चोर ले गए 25 किलो का लॉकर, खोलने पर निकले 100 रुपए

बेंगलुरु: एक ज्वेलर्स के घर चोरी के इरादे से गए चोर 25 किलो का लॉकर ही उठाकर चल दिए। बाद में जब चोरों ने लॉकर खोला तो उसमें से केवल 100 रुपए निकले। पुलिस ने इन चोरों को पकड़ने के बाद जब इनसे पूछताछ की तो यह बात सामने आई। जेसी नगर पुलिस ने गिरोह के 7 सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस ने लगभग सात लाख की कीमत के जेवर और अन्य सामान बरामद किया है। इस गिरोह के सदस्य दफ्तरों और अपार्टमेंट्स में सिक्यॉरिटी गार्ड की नौकरी करते थे। सदस्यों की पहचान लोकेंद्र, भानू, मणि, विष्णुगिरी, दीपक राज और मोहम्मद अयान के रूप में हुई है। घटना 20 फरवरी की है। गिरोह अशोक भाटिका के मिलर्स रोड स्थित घर पर पहुंचा।

वहां उन्होंने हाउसकीपर्स हितेश शर्मा और योगेश को बांधकर उनके साथ मारपीट की। इसके बाद उन लोगों ने रुपए निकालने के लिए लॉकर तोड़ने की कोशिश की। जब वे लॉकर तोड़ नहीं पाए तो अशोक की गाड़ी में लॉकर लादकर चलते बने। हालांकि करोड़ों रुपयों की उम्मीद लगाकर बैठे चोरों को लॉकर में से केवल 100 रुपए मिले।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper