जदयू ने राहुल गांधी से किया सवाल, आखिर बिहारियों से इतनी नफरत क्यों है आपको

पटना: बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल यूनाइटेड (जदयू) ने गुजरात में उत्तर भारतीयों के खिलाफ लगातार जारी हमले के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है। जदयू प्रवक्ता एवं विधान परिषद सदस्य नीरज कुमार ने सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को पत्र लिखकर कहा कि वह तत्काल अपने पार्टी कार्यकर्ताओं से हमले रोकने को कहें। उन्होंने कहा कि किसी भी राज्य के व्यक्ति को देश के किसी भी क्षेत्र में रहने का हक है।

शस्त्र की चाह रखने वाले आवेदकों की बांछें खिलीं

किसी भी घटना के लिए दोषी को सजा मिलनी चाहिए, लेकिन उसके नाम पर राजनीति चमकाने के लिए पूरे देश, समूह, जाति या राज्य को दोष देना कहां तक उचित है। उन्होंने कहा, आपने गुजरात के विधायक अल्पेश ठाकुर को बिहार कांग्रेस का सहप्रभारी नियुक्त किया और फिर उनकी (सेना) ‘‘गुजरात क्षत्रिय ठाकोर सेना’ को बिहारी समेत उत्तर भारतीय लोगों को गुजरात से दरबदर करने में जुटा दिया।

कुमार ने कहा कि गुजरात में आज जो विकास दिख रहा है, उसे बिहारी ही नहीं बल्कि पूरे देश के लोगों ने खून-पसीने से सींच कर किया है। गुजरात ही क्यों देश का कोई भी क्षेत्र एक दूसरे पर आश्रित है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper