जब टूटने लगे हौसला तो बस ये याद रखना,बिना मेहनत के

बिना मेहनत के हासिल तख्तो ताज नहीं होते,

ढूंढ़ लेना अंधेरों में भी मंजिल अपनी,

जुगनू कभी रौशनी के मोहताज़ नहीं होते।

………..…………………………………..

उदास लम्हों की न कोई याद रखना,

तूफ़ान में भी वजूद अपना संभाल रखना,

किसी की ज़िंदगी की ख़ुशी हो तुम,

बस यही सोच तुम अपना ख्याल रखना।

………..…………………………………..

खामोश बैठें तो लोग कहते हैं,

उदासी अच्छी नहीं,ज़रा सा हँस लें तो,

मुस्कुराने की वजह पूछ लेते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
E-Paper