जहरीली शराब के खिलाफ चलाया जायेगा राज्यव्यापी अभियान: डीजीपी

लखनऊ ब्यूरो। उत्तर प्रदेश के कुशीनगर और सहारनपुर में जहरीली शराब से हुई मौतों से सकते में आयी राज्य सरकार इसके खिलाफ राज्यव्यापी अभियान चलायेगी।

राज्य के पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने शुक्रवार को स्वीकार किया कि जहरीली शराब से हुई मौतों की घटना पुलिस कर्मियों की शिथिलता के कारण हुई है। मामले के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है। गोरखपुर और सहारनपुर के पुलिस महानिरीक्षक को जांच सौंपी गयी है। जिम्मेदार लोग बख्शे नहीं जायेंगे।

उन्होंने बताया कि आबकारी विभाग के साथ मिलकर आज से 15 दिन विशेष अभियान चलाया जाएगा। समय-समय पर अभियान चलाकर जहरीली शराब बनाने वालों पर एक्शन लिया गया है। उन्होंने इस सब के लिये स्थानीय पुलिस को जिम्मेदार ठहराया। दावा किया कि सहारनपुर में शराब उत्तराखण्ड से आयी थी।

सिंह ने सहारनपुर में मृतकों की संख्या नौ बतायी है जबकि स्थानीय लोगों के अनुसार जहरीली शराब से 18 लागों की जान गयी है। यह संख्या बढ़ भी सकती है।

उन्होंने बताया कि राज्य की पुलिस ‘पुलिस ऑनलाइन प्रिजन’ कोर्ट्स शुरू करने जा रही है। उन्होंने कहा कि यूपी पुलिस पहली फोर्स है जहां ऑनलाइन व्यवस्था थानों से संचालित हो सकेगी। अपराधियों की क्रिमनल हिस्ट्री भी थानों से ऑनलाइन ली जा सकेगी। ई अभियोजन सुविधा से ऑनलाइन विधिक राय लेने की व्यवस्था भी आज से शुरू की जा रही है।

उन्होंने कहा कि थानों में इंटरनेट कनेक्टिविटी एक समस्या है। इससे निबटने के लिये हाई स्पीड कनेक्टिविटी उपलब्ध कराए जाने का प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। इसके साथ ही चरित्र प्रमाण पत्र का सत्यापन भी ऑनलाइन मिल सकेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper